Monday, 25th September 2017

सपा में शक्ति परीक्षण -मुलायम पर भारी पड़ रहे हैं अखिलेश !

Sat, Dec 31, 2016 11:31 AM


अखिलेश  के घर के बाहर समर्थकों की भारी भीड़, वहीँ मुलायम के घर सन्नाटा !
लखनऊ:  सिल्वर जुबली वर्ष में  समाजवादी पार्टी दिसंबर का अंत होते-होते टूट गई. टिकट बंटवारे को लेकर टकराव इतना बढ़ा कि पांच साल पहले अपनी विरासत बेटे को सौंपने वाले पिता मुलायम सिंह यादव ने उसी बेटे अखिलेश यादव को छह साल के लिए पार्टी से ही निकाल दिया.


अखिलेश यादव और मुलायम ने बुलाई है अलग अलग बैठक
शुक्रवार को पूरे दिन चले इस सियासी तूफान के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज विधायकों की बैठक बुलाई है, जो फिलहाल जारी है. करीब 180  विधायक अखिलेश से मिलने पहुंचे हैं. अखिलेश के घर पर एमएलसी और मंत्री भी मौजूद हैं. उधर, दूसरी ओर सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के घर के बाहर भी लोग मौजूद हैं लेकिन उनकी संख्या कम दिख रही है. दरअसल, इसके पीछे वजह ये है कि पार्टी के लोग मुलायम सिंह का सम्मान करते हैं, लेकिन उन्हें अपना भविष्य अखिलेश यादव ने दिखाई दे रहा है.


अब देखना होगा मुलायम के पास कितने और अखिलेश के पास कितने लोग पहुंचते हैं
अब देखना होगा कि कितने लोग मुलायम से मिलने पहुंचते हैं और कितने लोग पिता पर पुत्र को तवज्जो देकर अखिलेश की बैठक का हिस्सा बनते हैं. इसके बाद ही आगे के समीकरण साफ हो सकेंगे. क्या अखिलेश मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफ़ा देकर नई पार्टी बनाएंगे या फिर सुलह की गुंजाइश अब भी बाक़ी है

.
समर्थक ने की आत्मदाह की कोशिश
अखिलेश और रामगोपाल को अनुशासनहीनता के आरोप में पार्टी से निकाले जाने के बाद बड़ी संख्या में अखिलेश समर्थक उनके घर के बाहर जमा हो गए और अखिलेश के समर्थन में नारेबाज़ी करने लगे. एक समर्थक ने तो आत्मदाह की भी कोशिश की. अखिलेश समर्थक मुलायम सिंह यादव से अपना फैसला वापस लेने की मांग कर रहे थे. समर्थकों को उग्र होते देख अखिलेश ने अपने एक विधायक को समर्थकों के बीच भेज कर संयम बरतने का संदेश दिया. साथ ही किसी अनहोनी की आशंका के मद्देनज़र मुलायम सिंह यादव और शिवपाल यादव के घर के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम के निर्देश दिए.

 

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75859