Thursday, 21st September 2017

नोटबंदी में सिर फोड़ रहे हैं चंद्रबाबू नायडू

Wed, Dec 21, 2016 3:49 PM

नोटबंदी के पक्ष में खुलकर आने वाले चंद्रबाबू नायडू को अब असलियत समझ में आ रही है। नोटबंदी से फैली अराजकता से निपटने की जिम्मेदारी प्रधानमंत्री ने नायडू की अध्यक्षता में बनाई एक समिति को दी थी, लेकिन नायडू अब कह रहे हैं- मैं अपना सिर फोड़ रहा हूँ।
 

पिछले महीने की 8 तारीख को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  अचानक ही पूरे देश में नोट बंदी की घोषणा  की थी ! तब से लेकर आज तक  42 दिन हो चुके है और लगभग हर रोज़ कोई न कोई नया नियम  या नया आदेश सरकार की ओर से जारी किया जा रहा है !  कतारों में मौत हो रही है,  आम आदमी परेशान है ! व्यापार लगभग ठप्प है ! संसद चल नहीं सकी ! नरेंद्र मोदी ने खुद कहा है कि हालात सुधारने के लिए मुझे सिर्फ 50  दिन का समय चाहिए !

50 दिन की ये अवधि लगभग ख़त्म होने जा रही है ! मगर हालात में कोई  बहुत ज़्यादा सुधार दिख नहीं रहा है ! और यही वजह है कि  अब विपक्ष और आम जनता  के साथ साथ NDA के घटक  दल  भी नोट बंदी के विरोध में उतर  आये हैं ! नोटबंदी पर बनी 13-सदस्यीय केंद्रीय समिति के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू  ने आज कहा कि ''मैं रोज अपना सिर फोड़ता हूं।''

नायडू  ने आगे कहा है, ''नोटबंदी से उत्पन्न समस्या का हल अब भी नहीं दिख रहा ! लोगों को अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए नकदी नहीं मिल रही है।'' आपको बता दें  कि बीजेपी के सहयोगी दल तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के प्रमुख और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू शुरुआत में नोटबंदी के  समर्थन में थे !  

चंद्रबाबू  नायडू  ने कहा कि लोगों को अपनी बुनियादी जरूरत की चीजें खरीदने के लिए नई करेंसी नहीं मिल रही है और बैंक तथा एटीएम में रोज कैश की किल्लत देखी जा रही है।  उन्होंने कहा- नोटबंदी के कारण हो रही परेशानियों को कम करने के बारे में मैं रोजाना दो घंटे समय देता हूं। मैं रोज अपना सिर फोड़ता हूं, लेकिन हम इस समस्या का समाधान ढूंढ़ने में असफल हैं।
आपको पता होगा कि  इससे पहिले  शिव सेना और अकाली दल भी नोट बंदी के तौर तरीको पर अपनी आपत्ति दर्ज करा चुके हैं !

 

चंद्रबाबू नायडू की टिपण्णी के बाद अब सवाल उठने लगे हैं  कि  क्या नोट बंदी  NDA में फूट का कारण बन रही है ?   
50 दिन बीतने में अभी थोड़ा सा समय और बाक़ी  है  ! यही समय NDA की  दिशा और दशा तय कर सकती है !
हालांकि बीजेपी का अभी भी यह कहना है कि विभिन्न राज्यों में हाल के स्थानीय निकाय चुनावों और उपचुनावों में हुई जीत से साफ है कि लोग परेशानियों के बावजूद नोटबंदी का समर्थन कर रहे हैं और भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार के कड़े कदमों की सराहना कर रहे हैं।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75821