Friday, 15th December 2017

चुनावी साल में रघुराज प्रताप को चुनौती, दाहिने हाथ की हत्या

Mon, Dec 12, 2016 9:59 PM

उत्तर प्रदेश में प्रतापगढ़ में दबंगई के कारण चर्चा में रहे कैबिनेट मंत्री रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को चुनावी साल में विरोधियों ने कड़ी चुनौती दी है। उनके एक बेहद करीबी स्थानीय नेता राजेश सिंह की बम और गोली से हत्या कर दी गई है।

रघुराज प्रताप सिंह के राजनीतिक विरोधियों से ज्यादा निजी दुश्मनी के शिकार हुए लोग उनके विरोधी हैं, और ये माना जा रहा है कि ये चुनौती रघुराज के सताए लोगों ने ही दी है। बाघराय थाना क्षेत्र में रघुराज के दाहिने हाथ कहलाने वाले राजेश सिंह की एक दावत से घर लौटते समय हत्या कर दी गई। कोड़राजीत गांव के निवासी राजेश सिंह की पत्नी पूनम सिंह पड़ोस की ग्रामसभा तिवारी महमदपुर गांव की प्रधान हैं। राजेश सिंह पुराना हिस्ट्रीशीटर है और उसका नाम 33 से ज्यादा अपराधों में शामिल रहा है।

पहले हमलावरों ने राजेश सिंह की स्कॉर्पियो पर बम फेंका और फिर घेरकर फायरिंग की जिससे राजेश मौके पर ही दम तोड़ गया। जानकारों का मानना है कि हत्या का जो तरीका अपनाया गया है, वह वैसा ही जैसा कि कैबिनेट मंत्री रघुराज के विरोधियों की हत्या में अपनाया जाता रहा है।

हिस्ट्रीशीटर राजेश सिंह रविवार रात तिवारीपुर गांव में ही एक दावत में शामिल होने गया था और रात करीब साढ़े 11 बजे वह अपने घर लौट रहा था, तभी उस पर ये हमला किया गया। जब स्कार्पियो कमासिन चौराहे के पास पहुंची तो चौराहे पर पहले से ही मौजूद कुछ लोगों ने स्कार्पियो रोक ली और बम से हमला बोल दिया। स्कॉर्पियों में सवार दो लोग धीरज और सोनू भी घायल हो गए। सूचना मिलने पर एसएसपी पश्चिम नीरज पांडेय मौके पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। दोनों घायलों को इलाज के लिए इलाहाबाद भेजा गया है।

कैबिनेट मंत्री रघुराज प्रताप कुछ साल पहले डीएसपी जिया उल हक की हत्या के मामले में चर्चा में आए थे। ये भी कहा जाता है कि अपने करीबी रहे ग्राम प्रधान नन्हें यादव की भी हत्या की साजिश उन्हीं की थी। उस समय बवाल होने पर रघुराज को मंत्रीपद से भी हटा दिया गया था, लेकिन बाद में वो दोबारा मंत्री बनने में सफल रहे।

हिस्ट्रीशीटर मृतक राजेश सिंह का काम स्थानीय स्तर पर जमीन पर अवैध कब्जा करना, स्थानीय पंचायत चुनावों में ग्राम प्रधानों और बीडीसी सदस्यों को डरा-धमकाकर अपने मनपसंद उम्मीदवारों के पक्ष में वोट डलवाना और स्थानीय स्तर पर रघुराज की सभाएँ कराना रहता था।

आशंका जताई जा रही है कि चुनावी साल में अपना रुतबा बनाए रखने के लिए मंत्री रघुराज भी अब विरोधियों पर बड़ा हमला करा सकते हैं। इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

35 %
9 %
56 %
Total Hits : 78566