Friday, 24th November 2017

फिर जेल टूटी, फिर गईं जानें, फिर सवाल करना हुआ देशद्रोह

Sun, Nov 27, 2016 4:51 PM

- महेंद्र नारायण सिंह यादव -

भोपाल जेल ब्रेक और एनकाउंटर के फर्जी होने की खबरें नोटबंदी के शोर में दबीं और अब पंजाब के नाभा में जेल ब्रेक की फिर खबर आई। यहाँ भी कड़ी सुरक्षा थी और जेल में खतरनाक कैदी होने के कारण कड़े इंतजाम थे, लेकिन फिल्मी स्टायल में आठ-दस आतंकवादी बंदूकें लहराते आए और अपने छह खूंखार साथियों को लेकर चल दिए।

नोटबंदी के बाद सरकार दावा कर रही थी कि इससे आतंकवादियों की कमर टूट जाएगी, लेकिन आतंकवादियों ने साबित कर दिया कि नोटबंदी से उन पर कोई फर्क नहीं पड़ा है। इसके पहले कुछ आतंकवादियों के पास से 2000 के नए नोट भी बरामद हुए थे और कई जगह एटीएम से ही 2000 के नकली नोट निकलने की घटनाएँ सामने आई हैं।

ये वारदात भी भाजपा के शासन वाले राज्य में हुई है, और भोपाल जेल ब्रेक की वारदात भी भाजपा शासित राज्य म.प्र. में हुई थी। एक हवलदार की जान भी चली गई और एक घायल हुआ है। आतंकवादियों का तो पुलिस कुछ न कर पाई, लेकिन बाद में गोली चलाकर एक लड़की को मार डाला और दो को घायल कर दिया। कहा जा रहा है कि जेल से भागे कैदी होने के संदेह में ये लोग मारे गए।

पंजाब की सुरक्षित जेल मानी जानी वाली नाभा जेल से फरार आतंकियों का तो कुछ पता नहीं चल पाया है लेकिन आतंकियों की तलाश के नाम पर पुलिस ने एक लड़की को मार डाला है। फरार कैदियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने पटियाला के समाना में नाकेबंदी कर रखी थी और कहा जा रहा है कि नाकेबंदी के दौरान ही पुलिस ने स्विफ्ट डिजायर को रोकने की कोशिश की और कार नहीं रुकी तो पुलिस ने कार पर फायरिंग कर दी। इसी फायरिंग में एक लड़की मौत हो गई। कार में बैठे एक व्यक्ति और बाइक पर आ रहे व्यक्ति को भी गोली लगी है।

पंजाब पुलिस की लापरवाही यह मामला भी बेहद गंभीर है क्योंकि जेल से फरार बदमाशों की गाड़ी का जो ब्यौरा दिया गया था, उसमें स्विफ्ट डिजायर का नाम था ही नहीं।  जिस रीना नाम की लड़की की मौत हुई है, वो ऑर्केस्ट्रा में काम करती थी।  सवाल यह उठ रहा है कि अगर रोकने पर भी गाड़ी नहीं रुकी तो पुलिस ने गाड़ी को पकड़ने या टायरों पर गोली चलाने के बजाय कार सवारों पर गोली क्यों चला दी?

जो पहले करना था, वो अब किया जा रहा है। जेल डीजी सस्पेंड कर दिए गए हैं। जेल अधीक्षक और उपाधीक्षक को भी सस्पेंड कर दिया गया है। स्पेशल टास्क फोर्स जेल से भागे कैदियों को पकड़ने के लिए लगाई गई है। सरकार कह रही है कि सारे कैदी जल्द पकड़ लिए जाएंगे, जैसे कि पहले से वो वादा करके गए हों कि चिंता मत करिए, हम जल्दी ही घूम-फिरकर वापस आ जाएंगे।

राज्य के डीजीपी (कानून एवं व्यवस्था) एसएस ढिल्लन ने जेल ब्रेक की घटना की पुष्टि कर दी है। राज्य सरकार बहुत चिंतित दिख रही है। फरार कैदियों की सूचना देने वालों का 25 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा कर दी गई है। उम्मीद है कि नोट नए वाले ही होंगे और असली होंगे। उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल कह रहे हैं कि कैदी जल्द पकड़े जाएंगे। केंद्र सरकार ने भी राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी है। केंद्रीय गृह सचिव राजीव महर्षि ने पंजाब के डीजीपी से बात की है।

 

लकड़ी की चाभी लगाकर जेल का ताला तोड़कर हुई भोपाल जेल ब्रेक की वारदात रात को हुई थी, लेकिन नाभा का मामला सुबह ही हो गया। जेल के बाहर सवेरे 9 बजे के करीब दो कारें आकर रुकीं, जिनमें से एक फॉर्च्यूनर थी और दूसरी वार्ना। कारों से पुलिस की वर्दी में कुछ युवक बाहर निकले। उनमें से एक एएसआई की वर्दी में था और अपने ही एक साथी को हथकड़ी लगाए थे। ऐसा लग रहा था जैसे वो किसी कैदी को जेल छोड़ने आए हों।

इन आतंकवादियों से गेट पर गार्ड ने पूछताछ की। जवाब संतोषजनक न मिलने पर कुछ बहस होने लगी। एक आतंकवादी ने कांस्टेबल जगमीत सिंह के मुंह पर चाकू से हमला कर दिया। इसके बाद वो जेल में घुसा और फाय​रिंग करने लगा। इसके बाद सभी फायरिंग करने लगे। इन बंदूकधारियों ने करीब 100 राउंड फायर किए, और कड़ी सुरक्षा वाली जेल के सुरक्षाकर्मी कुछ न कर पाए।

ये भी पढ़िए- नाभा सेंट्रल जेल की मजेदार कहानी

जेल से भागने वाले कैदियों में खालिस्तान लिबरेशन फोर्स के प्रमुख हरमिंदर सिंह मंटू और गुरप्रीत सिंह सेखों, शार्प शूटर गैंगस्‍टर विक्की गोंडर, नितिन देओल, विक्रमजीत सिंह विकी, कश्मीर गलवाड़ी हैं।
 

 पंजाब के नाभा की ये जेल काफी हाई-सिक्योरिटी वाली जेल मानी जाती है। जेल में कई खूंखार आतंकवादी, गैंगस्टर और अपराधी कैद हैं। यह जेल चंडीगढ़ से करीब 100 किलोमीटर दूर है।
( लेखक संपर्क- https://www.facebook.com/mahendra.yadav.399 )

Comments 2

Comment Now


Previous Comments

haider ali

भोपाल में आपने भगाने का नाटक रचा था साहब, इस बार पंजाब में आतंकवादी सच में जेल तोड कर भागे हैं, वहॉं भी सरकार राष्ट्रवाद के पुरोहितों की ही है ! देखते हैं इस बार इनकाउंटर होता है या नहीं

mohtashim khan

Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

34 %
10 %
56 %
Total Hits : 77699