Friday, 22nd September 2017

52 दिन से एडमिट जयललिता का पहला बयान- लोगों की दुआओं और प्यार से मिला पुनर्जन्म !

Mon, Nov 14, 2016 4:42 PM

चेन्नई. तमिलनाडु की सीएम जे. जयललिता ने 22 सितंबर को हॉस्पिटल में भर्ती होने के बाद पहली बार बयान जारी किया है। एआईडीएमके चीफ ने रविवार को कहा कि पार्टी कैडर और लोगों की दुआओं की वजह से उनका पुनर्जन्म हुआ है। उन्होंने राज्य की जनता से उपचुनाव में एआईडीएमके को वोट देने की अपील की है। जयललिता ने कहा, "जब तक आपकी दुआएं और प्यार मेरे साथ है, कोई भी मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता।" मैं पूरी तरह स्वस्थ हूं...

- जयललिता ने कहा, "मैं पूरी तरह स्वस्थ होने और दोबारा कार्यभार संभालने का बेसब्री से इंतजार कर रही हूं। जब तक आपकी दुआएं और प्यार मेरे साथ है, कोई भी मेरा कुछ नहीं बिगाड़ सकता।"
- उन्होंने कहा, "मैंने सुना है कि मेरी बीमारी की खबर सुनकर कई लोगों ने आत्महत्या कर ली। मैं चाहती हूं कि आप सभी प्रदेश की जनता के हित में काम करें। मैं आप में से किसी को भी खोना नहीं चाहती हूं।"
- जयललिता अभी अस्पताल में हैं। डॉक्टरों के मुताबिक, वे स्वस्थ हो चुकी हैं और घर लौटने का फैसला खुद करेंगी।
22 सितंबर को कराया गया था एडमिट
- 22 सितंबर को बुखार और डिहाइड्रेशन की शिकायत के बाद जयललिता को चेन्नई के अपोलो हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया था। उन्हें सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी।
- उनके इलाज के लिए दिल्ली एम्स के 3 डॉक्टरों की टीम भी भेजी गई थी। लंदन से भी एक स्पेशलिस्ट चेकअप के लिए बुलाया गया था।
- जयललिता के हॉस्पिटल में रहने के दौरान उनके करीबी माने जाने वाले पन्नीरसेल्वम को उनके विभागों की जिम्मेदारी दी गई है।
- हाल ही में पन्नीरसेल्वम ने जयललिता की फोटो सामने रखकर कैबिनेट की मीटिंग की थी।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75828