Tuesday, 19th September 2017

नोटबंदी ने ली एक और जान, किसान की 90 हजार की जेब भी कटी

Sat, Nov 12, 2016 6:07 PM

500 और 1000 के नोट बंद करने की मोदी सरकार के फैसले ने एक और जान ले ली। सागर में 500-1000 के पुराने नोट बदलने की कोशिश में मध्य प्रदेश के सागर में एक रिटायर्ड बीएसएनएल कर्मचारी की हार्ट अटैक से मौत हो गई। टीकमगढ़ में भी बैंक में नोट जमा कराने आए एक किसान की  करीब 90 हजार रुपए की जेब कट गई। 
 
 घटना सागर में मकरोनिया क्षेत्र में यूनियन बैंक में शनिवार की सुबह की है, जहाँ बीएसएनएल के रिटायर्ड अकाउंटेंट विनोद कुमार पांडे 4000 रुपए के 500-1000 के नोट चेंज कराने पहुंचे थे। पहली मंजिल पर स्थित बैंक में लंबी लाइन थी। श्री पांडे काफी देर तक लाइन में खड़े रहे और उनकी तबीयत बिगड़ गई। अचानक उन्हें चक्कर आ गए और वो गिर पड़े। लाइन से बाहर खड़े कुछ लोगों ने फौरन 100 डॉयल और 108  पर कॉल किया, लेकिन 3 घंटे तक इंतजार के बावजूद दोनों में से कोई नहीं पहुंचा। करीब 12.30 बजे उन्हें निजी वाहन से पास के प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी, और उन्हें बचाया नहीं जा सका।
शर्मनाक बात ये रही श्री पांडे को जमीन पर बेहोश पड़े देखने के बावजूद ज्यादातर लोग लाइन में पहले की तरह लगे रहे और लाइन छोड़कर उनकी मदद के लिए आगे नहीं आए
एक अन्य वारदात टीकमगढ़ में हुई, जहाँ  रुपए बैंक में जमा कराने गए एक किसान की जेब ही भीड़भाड़ में कट गई। किसान की जेब से 85,600 रुपए गायब हो गए। टीकमगढ़ के बड़ागांव निवासी सुखदयाल यादव अपने बेटे चंद्रभान यादव के साथ रुपए जमा कराने बैंक गए थे। इस बीच किसी ने उनकी जेब काट ली और 85,600रुपए निकाल लिए। मौके पर पुलिस भी मौजूद थी लेकिन जेबकतरे अपने हाथ की सफाई दे गए। जेब कटने पर किसान फूट-फूटकर रो पड़ा।
नोटबंदी के कारण पैदा हो रही अराजकता को लेकर सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रियाएँ व्यक्त हो रही हैं।

वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल ने लिखा है- "मैंने नोटबंदी के फ़ैसले को "मोदी सरकार का पहला ग़ैर-कांग्रेसी" क़दम कहकर तारीफ़ की थी। मेरी मूर्खता के लिए मुझे माफ़ करें। ख़ासकर मैं उन परिवारों से माफी माँगता हूँ जिनके कोई अपने बैंक की लाइन में गुजर गए।"

वरिष्ठ पत्रकार उर्मिलेश ने भी व्यंग्यात्मक अंदाज़ में लिखा है- "आर्थिक मामलों में मेरे जैसे कम-अक्ल आदमी को भी एक बात समझ में आ गई है कि अपने देश में 'काला धन' सिर्फ मजदूरों, किसानों, खोमचे वालों, छोटे दुकानदारों, साधारण व्यापारियों और आम नौकरीपेशा लोगों के पास ही है।"

पत्रकार महेंद्र नारायण सिंह यादव ने लिखा है- "साहब तो जापानी बुलेट ट्रेन शिनकासेन की सवारी का मजा लूट रहे हैं! आप चाहे लाइन में लगे, पाई-पाई को तरसें या भूखों मरें, उनकी बला से!"

 
 
 
 

Comments 6

Comment Now


Previous Comments

This step is foolish step which is showing differences between educated and uneducated prime minister .my question many people died and still corruption is increasing then why he take step like this . as per my observation our prime minister is that prime minister people used many abusive language

Zeyaul haque

Bahut hi dhukh ki baat h

Vivek singh

Modi ji se koi ye puchhe kenwo Japan kya apni selry ke paiso se gaye the wo paisa bhi aam janta ka hi hai mana modi ji ka 1000 aur 500 ke note band karne ka faisla sahi hai magar unkenis Faisle se sirf aam janta preshan hai black mani wale nahi modi khud to line mai lagne se rahe to unko kya pata aam aadmi ke dard ka aur modi ji ke khud ke kharch bhi to bahut hai unke pas paisa kaha se aa raha hai kya ye baat sabit nahi karti hai ke modi ke Bhakt sirf bhakti mai mast hai hai aur modi ji unki bhakti ka maza le rahe hai unko aam janta ka dukh takleef nazar hi nahi aa raha hai Modi ji ke is Faisle se aam aadmi ka kya haal hai ye modi ji aur unke bhakt kya jane ek Mazdoor jo subah 8 baje se sham ko 5 baje tak badan tod Mehnat karta hai jab use 500 rupay ka note milega apne pure din ki Mazdoori to wo unse kaise apne bachcho ke liye rashan khareedega wo pehle jakar banke mai unko change kare ho gaye to theek warna bachcho ko bhukh se tadata hua dekhe ye to rahi paise milne ke baad ki baat modi ji ke is Faisle se berozgari badhegi Kyoki jab bade logo par paisa hi nahi hoga to wo kaam kaha se karayenge Aaj halat thode kharab hai agar jaldi hi Kuchh nahi kiya gaya to wo Din door nahi jab Hindustan mai khane pine ki cheezo ke liye lootmar shuru ho jayegi aur bhakt aur modi kahenge ke Kuchh din mai sab theek ho Jayega

Suhail Rana

Bahut dukh ki baat hai Agar aaj modi ji ne aisa nhi kiya hota to ye sab nhi hota

Dilnawaz

Hata do midi ko desh Ki bhalai essime hai

Tasleem shaikh

if u say anything right n goes against modi then u all be called deshdrohi

dr.zahid tahsin

Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75789