Monday, 25th September 2017

बर्डफ्लू: प्रदेश में हाई अलर्ट

Sun, Oct 23, 2016 2:28 PM

 

भोपाल। ग्वालियर चिड़ियाघर में बर्डफ्लू का मामला सामने आने के बाद पशुपालन विभाग ने प्रदेश में हाई अलर्ट घोषित किया है। सभी जिलों में कंट्रोल रूम शुरू करने के साथ ही विभाग के उप संचालकों के मोबाइल फोन नंबर सार्वजनिक कर दिए हैं।

बर्डफ्लू से पक्षियों की मौत की आशंका पर आम जनता इन नंबरों पर सूचना दे सकती है। प्रदेशभर से अब तक सौ से ज्यादा सैंपल इकठ्ठा किए गए हैं, जिन्हें जांच के लिए राजधानी स्थित राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशुरोग संस्थान भेजे जाएंगे।

सैंपल लेने की प्रक्रिया जारी रहेगी। नई दिल्ली के बाद ग्वालियर में भी बर्डफ्लू का वायरस होने की पुष्टि को देखते हुए राज्य सरकार हरकत में आ गई है। सरकार ने पशुपालन, स्वास्थ्य और वन विभाग को संयुक्त रूप से इस वायरस की रोकथाम करने के निर्देश दिए हैं।

शनिवार को मंत्रालय में पशुपालन विभाग के प्रमुख सचिव ने तैयारियों की समीक्षा की और सभी संभागायुक्त, कलेक्टर, पशुपालन, वन और स्वास्थ्य विभाग के जिला अधिकारियों को निर्देश भेजे गए हैं। विभाग ने आम जनता से अपील की है कि कहीं भी बल्क में मुर्गियों की मौत हो, तो तुरंत जिले के अधिकारियों को सूचित करें।

वहीं संचालकों को पोल्ट्री फार्म के आसपास सफाई रखने को कहा गया है। घर में पाले गए मुर्गे-मुर्गी, तोता, चिड़ियों, बतख, पोल्ट्री फॉर्म और प्रवासी पक्षियों के सैंपल लेने को कहा है। साथ ही अभयारण्य और जलाशयों के आसपास प्रवासी पक्षियों पर विशेष निगरानी रखने को कहा है।

विभाग ने हाट बाजारों में शिविर लगाकर लोगों को बर्डफ्लू से बचाव के तरीके बताने के निर्देश दिए हैं। घबराएं नहीं, सतर्क रहें पशुपालन विभाग ने कहा है कि इससे आमजन घबराएं नहीं, बल्कि सतर्क रहें। विभाग के अफसरों के मुताबिक अभी सिर्फ एक प्रवासी पक्षी में यह वायरस पाया गया है। प्रदेश के स्थानीय पक्षी अभी पूरी तरह से सुरक्षित हैं।

"ग्वालियर में मिले वायरस को नष्ट करने की कार्रवाई हो चुकी है। प्रदेश सुरक्षित है। हमने अहतियात के तौर पर अलर्ट जारी किया है।" -डॉ. आरके रोकड़े, संचालक, पशु पालन विभाग

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75859