Wednesday, 20th September 2017

BSP कार्यकर्ताओं का मनोबल गिराने की कोशिश है ओपिनियन पोल: मायावती

Sat, Oct 15, 2016 12:54 AM

लखनऊ: बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने यूपी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर एक ताजा सर्वे को लेकर मीडिया पर करारा हमला किया. मायावती ने कहा कि मीडिया के पूंजीपति मालिकान अपने पक्ष में काम करने वाली पार्टियों के पक्ष में सर्वे के जरिये बीएसपी कार्यकर्ताओं का मनोबल गिराने की कोशिश कर रहे हैं.

बड़े-बड़े पूंजीपति और धन्नासेठ हैं अधिकांश मीडिया घराने के मालिक

मायावती ने पार्टी के सभी प्रदेशस्तरीय वरिष्ठ पदाधिकारियों की महत्वपूर्ण बैठक में पार्टी के लोगों को आगाह करते हुए कहा ‘‘देश में जितने भी छोटे-बड़े अखबार और टी.वी. चैनल आदि चल रहे हैं, उनके अधिकांश मालिक बड़े-बड़े पूँजीपति और धन्नासेठ ही हैं. इसके साथ ही, चुनाव में सर्वे कराने वाली एजेन्सियां भी ज्यादातर इन्हीं के हिसाब से ही कार्य करती हैं.’’

उन्होंने आरोप लगाया कि चुनाव में ये पूँजीपति लोग मीडिया तथा सर्वे एजेंसियों का इस्तेमाल खासकर कांग्रेस, बीजेपी आदि उन सभी विरोधी पार्टियों के पक्ष में ही हवा बनाने के लिये करते हैं जो सत्ता में आने पर उनके नफे-नुकसान के हिसाब से ही सरकारें चलाती हैं.

mayawati

बीएसपी के लोगों का मनोबल गिराना

बीएसपी अध्यक्ष ने कहा कि उनकी पार्टी ‘सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय’ के सिद्धान्त पर चलती है, इसलिये पूंजीपति लोग आगामी चुनाव के मद्देनजर अपने सभी अखबारों और टी.वी. चैनलों एवं सर्वे कराने वाली एजेन्सियों आदि का इस्तेमाल बीएसपी के लोगों का मनोबल गिराने के लिए करेगें. इनसे प्रदेश की जनता को वोट पड़ने तक ज़रूर सावधान रहना होगा.

आपको बता दें कि यूपी में 2017 में होने वाले विधानसभा चुनाव के परिणामों को लेकर हाल में आये एक सर्वे में बीजेपी के सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरने की बात कही गयी थी.

‘महामाया गरीब आर्थिक मदद योजना’ का नाम बदलकर ‘समाजवादी पेंशन योजना’

मायावती ने आरोप लगाया कि प्रदेश की मौजूदा एसपी सरकार अपनी पूर्ववर्ती बीएसपी सरकार के कार्यकाल में शुरू की गयी योजनाओं पर अपना ठप्पा लगाकर वाहवाही लूट रही है.
उन्होंने कहा कि बीएसपी सरकार द्वारा शुरू की गयी ‘महामाया गरीब आर्थिक मदद योजना’ का नाम बदलकर ‘समाजवादी पेंशन योजना’ करके एसपी सरकार अपनी पीठ ठोंक रही हैं. जनेश्वर मिश्र पार्क भी बीएसपी ने ही बनवाया था और उसका नाम डॉक्टर अम्बेडकर ग्रीन गार्डेन रखा था.

मायावती ने कहा कि एसपी महान सन्तों, गुरूओं और महापुरूषों के नाम पर बीएसपी सरकार द्वारा स्मारक एवं पार्क बनवाये जाने को ‘फिजूलखर्ची’ बताकर उनका अनादर कर रही है. वहीं दूसरी तरफ इटावा में केवल मौज-मस्ती के लिये ‘लायन सफारी’ बनाने तथा सैफई महोत्सव पर जनता के अरबों रुपये खर्च करने को एसपी सरकार फिजूलखर्ची मानने को तैयार नहीं है.

Comments 1

Comment Now


Previous Comments

8171723212

Himanshu

Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75805