Thursday, 21st September 2017

फलती फूलती हिन्दी और विलुप्त होते अक्षर.....

Sun, Oct 2, 2016 3:38 PM

       पुरुषोत्तम श्रीवास 

प्रति वर्ष की भाँति इस वर्ष भी  हिन्दी दिवस धूम धाम से मना  लिया गया है !  हिन्दी पखवारा नहीं हिन्दी पखवाड़ा भी सम्पन्न  हो गया ! सरकारी कार्यालयों में पूरे पखवाड़े  विभिन्न प्रतियोगिताएं  आयोजित की गईं !  प्रतियोगिताएं जीतने वाले  प्रतिभागियों को  लाखों  रुपयों के पुरस्कार प्रदान किये गए  और  फिर सब एक दूसरे को  congratulation  कह कर बधाई भी देते रहे !  मगर दुखद है कि  किसी का ध्यान फलती फूलती हिन्दी के  विलुप्त होते अक्षरों की ओर  नहीं जाता है ! यह बात सच  है कि  आज हिन्दी  का विस्तार हो रहा है !  कारण  कोई भी और कई हो सकते है  मगर यह प्रसन्नता की बात है कि न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी  हिन्दी बोलने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है !  मगर दर्द इस बात का है कि  हिन्दी  के कुछ अक्षर आज लगभग विलुप्त हो रहे है  और इन अक्षरों को गैर हिंदी  भाषाइयों  के साथ साथ हिन्दी  बोलने वाले भी अनदेखा कर रहे है!  सूची लंबी हो सकती है मगर यहाँ  केवल  एक अक्षर की बात कर रहा हूँ और वो अक्षर है "फ " !

 हिंदी का  "फ "  अक्षर आज  उर्दू  का  या  अंग्रेज़ी  का  "फ़ " हो गया है!  कुछ समय पहिले  तक साहित्यकार, सिने जगत के कलाकार , रेडियो के प्रस्तुतकर्ता  एवं  टेलीविज़न के धारावाहिकों में कलाकार और सामाचारों में समाचार वाचक  "फ "  को  "फ "  ही बोलते थे  मगर अब वो "फ " "फ़ "में बदल गया है! आज सब जगह फल को फ़ल  बोला जा रहा है! फिर को फ़िर  बोला जा रहा है! यहाँ  तक कि  फूफा जी को फ़ूफ़ा  जी बोला जा रहा है ! दर असल  फ और फ़  में मूल अंतर लोगो को पता ही नहीं है ! हिंदी में फ जब बोला जाता है तो दोनों होंठ आपस में मिलते है और जब "फ़" (जो या तो उर्दू से आया है या  अंग्रेजी से) बोला जाता है तो आपस में दोनों होंठ मिलते नहीं है! जब भी कोई हिन्दी शब्द Ph से शुरू होगा  तो उसे "फ "  यानी दोनों होंठ जोड़ कर बोलेंगे ! और जब कोई शब्द F से शुरू होगा  तो उसे "फ़ " यानी दोनों होंठ जोड़ कर नहीं  बोलेंगे  ! जैसे - फूल (Phool) ! यहाँ "फ " को   दोनों होंठ जोड़ कर बोलेंगे ! फ़ूल  (Fool)  !   यहाँ "फ़ " को   दोनों होंठ जोड़ कर नहीं  बोलेंगे ! अंग्रेजी के शब्दों में "फ " नहीं होता है!  अंग्रेज़ी  में अक्षर चाहे Ph  से शुरू हो या F से उसे उर्दू के "फ़ " की तरह ही उच्चारित करेंगे! जैसे- फ़ोटो  (Photo), फ़िल्म (Film) !  मेरा निवेदन  यही है कि अगर आप सचमुच  हिन्दी  को फलता फूलता देखना चाहते हैं तो  इसके अक्षर "फ " को विलुप्त होने से बचाने  का प्रयास कीजिये! हिन्दी  तभी फलेगी फूलेगी जब हम फलेगी फूलेगी बोलेंगे न कि "फ़लेगी फ़ूलेगी "  !


                                                                                                                                            (लेखक विविध भारती में वरिष्ठ  प्रसारक हैं )

Comments 1

Comment Now


Previous Comments

यहाँ नमस्कार का भी उल्लेख करना चाहिए। लोगो ने इस खूबसूरत अभिवादन को क्यों नमश्कार कर दिया। सही शब्द बोले और सीखें।

Jaya Arya

Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75821