Sunday, 19th November 2017

जीरो बैलेंस पर खुले खातों में नहीं जमा हुआ एक रुपया

Sun, Sep 25, 2016 8:48 PM

भरतपुर.देश में दो साल पहले शुरू हुई प्रधानमंत्री जनधन योजना में खुले खातों में से बड़ी संख्या में खाते अभी तक निष्क्रिय बने हुए हैं। इन बचत खातों में एक धेला तक जमा नहीं हुआ है। उधर, खातों में कोई लेनदेन नहीं होने से बैंकों को इन्हें संभालना भारी पड़ रहा है।इस योजना में भरतपुर जिले में भी लाखों की संख्या में खाते खुले लेकिन अभी भी करीब 1 लाख 25 हजार खाते इस तरह हैं, जिसमें कोई राशि जमा नहीं हुई है। ये सभी खाते जीरो बैलेंस पर खुले थे, लेकिन खाता खुलने के बाद ग्राहकों ने इसमें रुचि नहीं दिखाई।
ऐसा नहीं कि जिले में ही निष्क्रिय खातों की संख्या है। प्रधानमंत्री की इस महत्वाकांक्षी योजना में प्रदेश में करीब 1 करोड़ 71 लाख खाते खुले थे, जिसमें से वर्तमान में करीब 38 लाख 83 हजार खाते शून्य पर अटके हुए हैं। बैंक की भाषा में बात करें तो ये खाते 'नॉन एक्टिवÓ पड़े हुए हैं। वहीं, निष्क्रिय खातों को छोड़ दिया जाए तो अन्य खातों में करीब 29 सौ करोड़ रुपए की राशि जमा है।
प्रधानमंत्री जनधन योजना के अंतर्गत जिले में करीब 7 लाख 27 हजार 500 बचत खाते विभिन्न सरकारी व निजी बैंकों में खुले थे। इसमें शहरी क्षेत्र में करीब 2.80 लाख और ग्रामीण क्षेत्र में 4.47 लाख खाते शामिल हैं। इन खातों में से 1.25 लाख खाते वर्तमान में जीरो बैलेंस पर ही अटके हुए हैं। इन खातों में कोई लेनदेन नहीं होने से संबंधित बैंकों की चिंता बढ़ा दी है। हालांकि, शेष खातों में करीब 90 करोड़ 64 लाख रुपए जमा हैं।
प्रधानमंत्री जनधन योजना देश में 28 अगस्त 2014 को शुरू हुई थी। इसके तहत प्रत्येक घर में एक बचत खाता खोला जाना था। इन खातों में ग्राहक एक बार में दस हजार रुपए से ज्यादा राशि जमा नहीं करा सकता। वहीं, ग्राहक को सालभर में 50 हजार जमा कराने होंगे। इन खातों की  विशेष बात ये थी कि इनमें राशि चेक से नहीं बल्कि नकद जमा होगी।
बंद हो सकते हैं खाते
खातों को खोलने में बैंकों में कोई दिक्कत नहीं हो, इसलिए ग्राहक को केवल एक आवेदन पत्र भरना था और अन्य  कागजात जमा कराने के लिए आरबीएम ने उसे एक साल की छूट दी थी। इसके बाद भी काफी संख्या में ग्राहकों ने कागजात जमा नहीं कराएं।
सूत्रों के अनुसार बैंक  निष्क्रिय  खातों को आरबीआई के -निर्देश के बाद जल्द बंद कर सकती है।  एनएन सोनी जिला कलक्टर ने बताया कि यह मामला गंभीर है। मैं अधिकारियों से बैठक लेकर इसकी समीक्षा करुंगा। 

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

34 %
9 %
57 %
Total Hits : 77441