Monday, 25th September 2017

जिग्नेश मेवानी : गुजरात दलित आंदोलन के नायक

Fri, Aug 5, 2016 7:44 PM

- महेंद्र नारायण सिंह यादव
        -  गुजरात के दलित महासम्मेलन और दलित चेतना के पीछे वैसे तो हाल की दलित प्रताड़ना की घटनाएँ और उनसे दलितों के बीच फैला आक्रोश है, लेकिन इस आक्रोश और चेतना को संगठित रूप देने में जिन लोगों ने सफल मेहनत की है, उनमें प्रमुख हैं ऊना दलित अत्याचार लाड़ात समिति के संयोजक जिग्नेश मेवानी।दलितों के हक के लिए लड़ने वाले कई संगठनों को एक मंच पर लाकर गुजरात की सरकार को हिला देने वाले आंदोलन के पीछे जिग्नेश मेवानी का ही जज्बा है।
 

ऊना में मृत गाय की चमड़ी निकाल रहे दलितों को पीटने की घटना के विरोध में पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन हुए, लेकिन गुजरात सरका के होश तब उड़े जब दलितों ने मरी गायों की चमड़ी निकालने से इन्कार ही नहीं किया, बल्कि ट्रकों में भरकर मरी गायों को जिला कलेक्ट्रेट और अन्य सरकारी कार्यालयों में डालना शुरू किया। सामाजिक चेतना का असर यहाँ तक दिखा कि माँग उठने लगी कि गाय को अपनी माता कहने वाले ब्राह्मण ही इन गायों का अंतिम संस्कार पूरी रीति-रिवाज के साथ करें। गाय की जान को दलितों से ज्यादा अहम बताने वाले आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से भी अपीलें की जाने लगीं कि वे इन गौ माताओं का अंतिम संस्कार करें। सोशल मीडिया में जिस तरह से यह अभियान चला उससे दलितों और पिछड़ों के बीच एकता भी कुछ उसी तरह से दिखी, जैसी कि हैदराबाद यूनिवर्सिटी के शोध छात्र रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद दिखी थी।
 

गुजरात के दलितों के इस आक्रोश को सुसंगठित रूप देने की ज़रूरत थी और इस दिशा में सामाजिक कार्यकर्ता जिग्नेश मेवानी ने अहम भूमिका निभाई। करीब साल भर पहले गुजरात में पटेल आंदोलन की कमान भी एक ऐसे ही युवा हार्दिक पटेल ने संभाली थी, लेकिन लंबे हिंसक प्रदर्शन के बाद भी उसका असर इतना नहीं हुआ जितना कि जिग्नेश मेवानी और दलितों के आंदोलन का हुआ। खास बात यह भी रही कि दलितों का ये आंदोलन पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा।
 

 

जिग्नेश मेवानी सामाजिक कार्यकर्ता और वकील हैं और उन्हें उस तरह का प्रचार भी नहीं मिला जिस तरह से हार्दिक पटेल को मिला था। शायद खुद जिग्नेश भी व्यक्तिगत छवि बनाने के बजाय दलितों में समग्र चेतना को ही ज्यादा महत्व देते हैं। यही कारण है कि अभी तक गुजरात के बाहर के लोग उनके बारे में कम ही जानते हैं। दलितों के महासम्मेलन के बाद कुछ खबरों में उनका नाम ज़रूर आया लेकिन इस तरह से नहीं कि उनकी कोई अखिल भारतीय पहचान बने। यहाँ तक कि गुजरात की मुख्यमंत्री का भी इस्तीफा दलित महासम्मेलन की अपार सफलता के कारण ही हुआ, लेकिन फिर भी मीडिया ने इसके असली कारणों पर चर्चा करने से परहेज किया।
 

जिग्नेश ने महासम्मेलन की रूपरेखा तय करने में तो अहम भूमिका निभाई ही, साथ ही, दलितों से ये संकल्प करवाने का महत्वपूर्ण कार्य भी किया कि अब वे मृत गायों की चमड़ी निकालने और गंदगी साफ करने का काम कभी नहीं करेंगे।
 

श्री मेवानी को इस बात का अहसास है कि इस आंदोलन को लगातार जाग्रत रखना कठिन काम है, लेकिन उन्हें यह भी भरोसा है कि एक बार अगर दलित मृत गायों की चमड़ी निकालने और गंदगी साफ करने का कार्य बंद करना शुरू कर देंगे तो देर-सबेर सारे दलित इसका अनुसरण करने लगेंगे।
जिग्नेश दलितों को यह समझाने में सफल हो रहे हैं कि गंदगी साफ करने के काम में न तो उनका वर्तमान और भविष्य सुरक्षित है और न ही उनकी जान सुरक्षित है। यही दो बातें गुजरात के दलितों को समझ में आने लगी हैं, जिसका सबूत दिखा अहमदाबाद के दलित महासम्मेलन में। जिग्नेश कहते हैं, "हमारा ये आंदोलन क्षणिक घटना नहीं है, बल्कि ये लगातार चलेगा और इसीलिए हमें हार्दिक पटेल जैसे हीरो बनने के इ्च्छुक नेता नहीं चाहिए, बल्कि ऐसे लोग चाहिए जो संघर्ष की राह पर दूर तक चल सकें।"

 

पूरे दलित आंदोलन पर प्रशासन, पुलिस और खुफिया विभाग की कड़ी निगाह है, लेकिन जिग्नेश भी पूरे आंदोलन को अहिंसक और शांतिपूर्ण बनाने में सफल हुए हैं। और यही कारण है कि अब तक पुलिस चाहकर भी उनके खिलाफ कोई दमनात्मक कार्रवाई नहीं कर पा रही है। श्री मेवानी आगे भी पूरे आंदोलन को शांतिपूर्ण बनाए रखने की प्रतिबद्धता दिखाते हैं, लेकिन साथ ही यह भी उनका कहना है कि अगर कोई दूसरा हम पर हमला करता है तो हम उसका जवाब मुंह-तोड़ तरीके से ज़रूर देंगे।
 

दलित महासम्मेलन की सफलता का महत्व इसलिए भी बढ़ जाता है कि इसमें सभी प्रमुख राजनीतिक दलों को दूर रखा गया। कांग्रेस, भाजपा, आम आदमी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी ने इस आंदोलन में शिरकत करने और इसका श्रेय लेने की बहुत कोशिश की, लेकिन सतर्क आंदोलनकारियों ने उनकी चाल को कामयाब नहीं होने दिया। 
 

इस रैली में अहमदाबाद, सौराष्ट्र और उत्तरी गुजरात से आए दलितों ने बड़ी संख्या में भाग लिया। यह कारनामा मौजूदा हालात में किसी एक नेता या संगठन के बस का नहीं था। करीब 40 दलित संगठनों ने इसमें एकजुट होकर ताकत दिखाई जिसका नतीजा ये निकला कि मु्ख्यमंत्री आनंदीबेन को तुरंत ही याद आ गया कि उनकी उम्र 75 साल की हो चुकी है और उन्हें पद से हट जाना चाहिए।
 

वैसे रैली में ज्यादा लोग न आ पाएँ, इसके लिए गुजरात सरकार ने जगह-जगह आंदोलनकारियों को रोकने की कोशिश की। यहाँ तक कि रैली स्थल भी अंतिम समय में बदल दिया गया और ऐसे मैदान में रैली करने की अनुमति दी जहाँ ज्यादा लोग आ ही नहीं सकते थे। इसके बावजूद, दलितों ने इतनी बड़ी संख्या में रैली में भाग लिया कि आनंदी बेन को जाना ही पड़ गया। माना जा रहा है कि रैली में करीब 15 हजार लोगों ने भाग लिया। यह संख्या बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जहाँ उत्तर प्रदेश और पंजाब जैसे राज्यों में दलितों की संख्या तकरीबन 21 और 26 प्रतिशत है, वहीं गुजरात में इनकी संख्या करीब 7 प्रतिशत ही है।
 

जिग्नेश अब एक जनजागरण यात्रा निकाल रहे हैं। 5 तारीख से अहमदबादबा से शुरू होने वाली ये यात्रा 15 अगस्त को उसी ऊना पहुँचेगी जहाँ मृत गायों की चमड़ी निकालने पर दलितों को पुलिस की मौजूदगी में पीटा गया था। करीब 81 किलोमीटर लंबी इस यात्रा में जिग्नेश और उनके साथी गाँवों में रहने वाले दलितों से मिलकर उनसे आग्रह भी करेंगे कि वो गंदगी साफ करने और मरी गायों की चमड़ी निकालने वाले कार्य करना बंद कर दें। इस यात्रा के जरिए वो दलितों को उनके जीवन-यापन के लिए सरकारी जमीन आवंटित करने की भी माँग उठा रहे हैं। उनका कहना है कि अडानी और अंबानी जैसे रईसों को जब मिट्टी के मोल सरकारी जमीन दी जा सकती है, तो दलितों को क्यों नहीं दी जा सकती।
 

दलित आंदोलन को समग्र रूप देने में भी श्री मेवानी जुटे हैं। दलितों की करीब 1500 जातियों-उपजातियों को एक सूत्र में बाँधना, उनके उत्थान की वैकल्पिक रूपरेखा प्रस्तुत करना एक महत्वपूर्ण काम है जिसमें जिग्नेश और उनके साथी जुटे हुए हैं। इस आंदोलन में जुड़ने के लिए वे सारे लोकतांत्रिक, धर्म निरपेक्ष, गांधीवादियों, लेखकों-पत्रकारों और नारीवादियों से अपील भी कर रहे हैं। 
 

अहमदाबाद से ऊना तक की पदयात्रा के जरिए जिग्नेश और उनके साथी दस प्रमुख माँगें रखना चाहते हैं। पहली माँग ऊना कांड के सभी आरोपियों पर प्रिवेंशन ऑफ एंटी सोशल एक्ट्स (पीएएसए) लगाया जाए। इसके तहत उनकी दोबारा गिरफ्तारी हो। दूसरी माँग है-11 जुलाई को ऊना में हुई घटना में शामिल पुलिस अफसरों पर भी कार्रवाई हो। तीसरी माँग है-31 जुलाई 2016 को दलित महासम्मेलन के दिन करीब 80 दलितों पर लगाए गए झूठे मामले रद्द किए जाएँ। चौथी माँग है- 2012 में सुरेंद्र नगर जिले के थानगढ़ में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर एके 47 राइफल से गोली चलाने के आरोपी पुलिस अफसरों पर चल रहे मुकदमों में तेजी लाई जाए और तुरंत चार्जशीट दायर की जाए। 
 

जिग्नेश और उनके साथियों की पाँचवीं माँग है राज्य के सभी 25 जिलों में विशेष अदालतें स्थापित की जाएँ जिनमें अत्याचार अधिनियम के मामले तेजी से निपटाए जाएँ। छठी माँग है कि अत्याचार अधिनियम की धारा 3 (1) (एफ) के तहत दलितों को पाँच एकड़ जमीन का आवंटन सही और निष्पक्ष तरीके से हो। सातवीं मांग है- गुजरात में सभी नगरपालिकाओं में सफाई कर्मियों को छठवाँ वेतन आयोग लागू करें। आठवीं माँग है कि गुजरात में आरक्षण अधिनियम को तत्काल लागू किया जाए। नौंवीं माँग है कि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए बजट में आवंटित धनराशि को अन्य मदों में खर्च न किया जाए। इसके अलावा, दसवीं माँग है कि 22 प्रतिज्ञाओं के बारे में डॉ अंबेडकर के भाषणों पर आधारित पुस्तक को हटाने के लिए गुजरात सरकार देश भर के दलितों से सार्वजनिक रूप से माफी माँगे।
 

सरकार का रवैया जिग्नेश को परेशान भी कर रहा है और उन्हें ताकत भी दे रहा है। ऊना की घटना को हुए करीब तीन सप्ताह हो चुके हैं, गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल त्यागपत्र दे चुकी हैं, लेकिन हर सप्ताह मन की बात करने वाले प्रधानमंत्री ने अब तक इस घटना पर एक शब्द नहीं बोला है, जबकि तमाम छोटी-बड़ी घटनाओं पर वे ट्विट करते रहते हैं। यहाँ तक कि ऊना कांड के विरोध में करीब 17 दलित युवाओं ने जहर पीकर जान देने की भी कोशिश की है, जिसमें से एक की तो मौत भी हो गई, लेकिन सरकार अब भी किसी भी तरह से जुबान खोलने को तैयार नहीं है। इससे पैदा होने वाला दलित आक्रोश जिग्नेश मेवानी को बड़ी ताकत दे रहा है।
 

दलित आंदोलन बहुत ही सुनियोजित और सतर्कतापूर्ण तरीके से संचालित हो रहा है। कांग्रेस नेता राहुल गाँधी, आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती अब दलितों के आक्रोश को अपने-अपने पक्ष में भुनाने की फिराक में हैं, लेकिन जिग्नेश अब तक इन सभी नेताओं से दूरी बनाए हुए हैं। कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के दलितों के प्रति रवैये में जिग्नेश को बहुत ज्यादा अंतर लगता भी नहीं। इन राजनेताओं को आंदोलन से दूर रखने से पूरे दलित आंदोलन की विश्वसनीयता भी बढ़ी है।
 

जिग्नेश देश भर में दलित अत्याचार की घटनाओं पर नजर रखते हैं और उनका सिलसिलेवार ब्यौरा भी पेश करते हैं। सरकारी आंकड़ों के अनुसार 2014 में केंद्र में भाजपा की सरकार बनने के बाद से दलितों के साथ हिंसा की घटनाओं में 2010 की तुलना में 44 प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है। दलितों के साथ मारपीट की देश भर में हुई घटनाओं में 30 प्रतिशत घटनाएँ भाजपा शासित राज्यों- मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में ही हुई हैं। 

जिग्नेश और उनके ऊर्जावान साथियों की यह कोशिश बहुत दूरगामी प्रभावों वाली हो सकती है। ऐसे संकेत मिलने लगे हैं कि गुजरात के बाहर के दलित भी अब  गंदगी साफ करने और मृत गायों की चमड़ी निकालने से इन्कार करने लगे हैं। बहुत लंबे समय से केवल उत्तर प्रदेश की सत्ता हासिल करने को अपना लक्ष्य मान बैठे देश भर के दलितों को जिग्नेश मेवानी और उनके साथियों ने नई सामाजिक चेतना से भरा है।

ऐसा भी नहीं है कि ये सब केवल जिग्नेश मेवानी और उनके साथियों की वजह से ही हुआ है। गुजरात के 40 से ज्यादा छोटे-बड़े दलित संगठनों ने इसमें अपनी ऊर्जा लगाई है। इतना अवश्य है कि उन सबको एक सूत्र में बाँधने में जिग्नेश और साथियों ने अहम योगदान दिया है। वास्तव में रोहित वेमुला की आत्महत्या के बाद उपजे आक्रोश के बाद से सामाजिक न्याय के पक्षधर संगठनों को एक सूत्र में पिरोने का काम ही तो मुख्य है जिसके बाद सफलता दूर नहीं रह जाती। फिलहाल गुजरात में ये हुआ है और बाकी राज्यों में होने के आसार बन रहे हैं।

(महेंद्र नारायण सिंह यादव पत्रकार, लेखक और सामाजिक चिंतक हैं)

 

Comments 132

Comment Now


Previous Comments

Megwani g Aap me dusre Kansi Rak ki jhalk dikhai deti h Delhi abhi dur h lekin hosle ko dekhte hua hmare liye imposible nhi h Jai Bhim Jai kansi Ram

Harish chander

Kranti ki suruwat h yeh

ashwin rangari

क्रन्तिकारी नायक जिग्नेश के विषय में विस्तृत जानकारी जरुरी थी,जिसे आप ने बेहतरीन तरीके से अंजाम दिया है.हम इसके लिए आभार प्रकट करते हैं.

hl dusadh

सलाम जिगनेश भाई और उसकी टीम को। आज समाज को ऐसे ही जुझारू युवाओं की जरूरत है।

Mohan Lal Kalyan

जिग्नेश मेवानी जी का हौसला बुलंद रहे सदैव ,शुभकामनाओं सहित।आज ऐसे ही आन्दोलन और संघर्ष की आवश्यकता ही है समाज और देश को, निजीतौर पर जिग्नेश मेवानी जी का हार्दिक स्वागत व अभिनन्दन है।जय भीम नमो बुद्धाय।

अवनीश कुमार

जिग्नेश मेवानी जी का हौसला बुलंद रहे सदैव ,शुभकामनाओं सहित।आज ऐसे ही आन्दोलन और संघर्ष की आवश्यकता ही है समाज और देश को, निजीतौर पर जिग्नेश मेवानी जी का हार्दिक स्वागत व अभिनन्दन है।जय भीम नमो बुद्धाय।

अवनीश कुमार

is desh men aise andolno ki khas jarurat bhi ab ho aai hai...................

rajesh kumar

Jignesh Mewani jaise social worker ki jarurat Bihar air UP ko bhi mahasus ho rahi hai.

Shrikant Goswami

Isme walmiki bhaiyo pura sahyog kare to ye andolan bilkul safal rahega.koi safai karnewala corporation ka karmchari hadtal par utarjana chahiye.safai kam bandh.bhale dusri mazdoori dhundh lo.or maeani ko ek point ye b rakhna chahiye ki swaraksha k liye sab dalito ko hathiyar parwana mile.sabhi bhaiyo collector ko apply karo hathiyar k liye.reason me likho jan ka khatra he saearno ka.oe ye sahi b he.hathiyar hoge to ye sawarno aasani se hamla nai kar sakenge.or thoda dar b lagega.or hathiyar wale me thodi himmat b aayegi.

Indra Kumar.is me jo ganda dhonewale bhangi valmiki bhaiyo ka bharpur sath milne par ye effectfull hoga hi.

Aap na hathma sarkar nu nak aavi gayu che jetlu dabavso etlu Mon kholse j patidar n kari sakya the aapne midiya vina kari sakya Aap aage badho Sab dalit aapke sath hai jai bhim

c k maheria

SLOW & STEADY WINS THE RACE WHERE IS THE WILL THERE IS THE WAY MY HEARTIEST BEST WISHES FOR THE RIGHTEOUS PEOPLE OF THE GREAT SOCIAL CHANGING MOVEMENT OF SOCIETY - JAI!!!HIND!!!

Pt.Nand Kishore Dedhann

Well done Jignesh Bhai ! What a Leading role you played in a Dalit Unity and hard work will be paid off Keep it up....Jai Bheem.

Ajit Lear

Abhi yeh jan jagrati, ki jaroorat hai, suruaat ho gayi hai....... United honey ki jaroorat hai.....

S.p.Gautam

Khub khub abhinandan mitro babasaheb ye sindhela marg sathe chalii aje dalito na padkar ne pokarii samajik ane Jan andolan ne vacha api ae badal abhinandan ... Una dalit atiyachar ni ladat same sarkar ne padkar karoo ane aevii ritna prachar karo k samaj ma ekta jalvai rahe ane je dosit loko se ane je local bjp na leader se amne dismissed Thai aevu karo badha j apnii sathe se .. Jay bhim

Haresh chavda

Very good work mera pura saport hai

Satyendra kumar

Very good work mera pura saport hai

Satyendra kumar

Very good work mera pura saport hai

Satyendra kumar

Very good work mera pura saport hai

Satyendra kumar

Very good work mera pura saport hai

Satyendra kumar

Jaibheem dosto,hum àpke prati samman vyakt karte hain.àndolan ke liye mangàlkamnaye.MKSingh,Bijnor UP.8923769679

MKSingh

जीग्नेशजी और ऊनके साथीयो ने जो हमारे ऊपेक्षीत और शोषीत भाई यों के ऊथ्थान के लीये क्रांन्ती की ज्वाला को प्रज्वलीत कीया है व काफी सराहनीय कदम है.. आप हमे बताये की अगला पडाव क्या होंगा.. हम ईस आंदोलन को अब देशभर मे जलाये रखना चाहते है..!!

Akash moon

Mai dalit k utthan hetu Mr. Jighvesh dwara shuru liye gaye Dalit jagrati aandolan ka samarthan karata hu.aise jagrati aandolan Dalit Samuday k Vikash k liye pure Desh me karane k jarurt h.

Amardeep

Jignesh sir...Go Ahead..jay bhim

Kiran Mane

Bahut badhiya . Keep its up

Naresh wasudeo patil

Bahut badhiya . Keep its up

Naresh wasudeo patil

Megwani is doing legend work... All the best for your future movement, we all always with you

Rajesh Jatav

JIgnesh Ji,you are doing a good job and keep it on. Bahujan needs a leader like you and hope that you will fulfill the dream of Dr. B.R Ambedkar and Kanshi Ram ji. I salute you for raising the voice for downtrodden.

Tilak Raj

Very good best of luck

Rakesh Dodiya

Ham logo ko mil kar purey bharat me aandolan kar dena chahiy jai bhem

Arun kumar

Jigresh Magwani g we are proud of u Very nice

Ram Singh Ballu

Jigresh Magwani g we are proud of u Very nice

Ram Singh Ballu

Jigresh Magwani g we are proud of u Very nice

Ram Singh Ballu

Jigresh Magwani g we are proud of u Very nice

Ram Singh Ballu

Jigresh Magwani g we are proud of u Very nice

Ram Singh Ballu

pura dalit samaj apke saath hai Jai bhim.

ramesh jod

All over India main mulniwasio ka movement hona chaia

Aniljisonkar

Great, Keep it up.....

Pavitter Singh

Manu vadi logo ne dalito ka swabhiman marker, un par attyachar karke apna Raj kayam Kar rakha hai, bas Jarurat hai to Sirf dalito me swabhiman Jagane ki , jis din dalito ka swabhiman Jag gaya aur inko apni takat ka ahesas ho gaya bus us din Sab kuchh theek ho jayaga, main un sabhi logo ka dhanyavad Karta hu jinhone sabhi dalit sangthan ko ek Saath pirokar Gujrat dalit andolan ko safal banaya

Rajesh Kumar Naneria

बहोत ही सुन्दर प्रयास रहा है। भविष्य में भी दलित लोगोंके साथ एसा घिनोना व्यवहार रहा तो देश में एक नयी खुनी क्रांति की सुरवात हो सकती है।

GSM

बहोत ही सुन्दर प्रयास रहा है। भविष्य में भी दलित लोगोंके साथ एसा घिनोना व्यवहार रहा तो देश में एक नयी खुनी क्रांति की सुरवात हो सकती है।

GSM

Very Nice, Jignesh Mewani for creating awareness among dalits. A big battle against Dalit exploitation his to be fought not only in Gujarat but entire country. So, nobody can dare to exploit Dalits.

Anil Kumar

Good work by Mewani I am with You For a social work

Anil Kumar

Jai bhim jai bhart

Dharmendra

बाबा साहेब डॉ अम्बेडकर ने १९३० मे कहा था कि आप मरे पशुओ की चमड़ी निकालना बन्द करो मैला उठाने का घृणित काम मत करो ! हमारे समाज के दबे कुचले लोगो ने बाबा की बात नही मानी ! शोषित समाज पर अत्याचार होने का प्रमुख कारण भी यही है ! आज भाई जिग्नेश ने शोषित समाज को घृणित पैशा नही करने की शपथ दिलाकर स्वाभिमान से जीवन जीने की राह दिखाई है ! इसके लिए भाई जिग्नेष की बहुत बहुत साघूवाद जय भीम नमो बुद्धाय

Dr M L Joiya

Yeh andolan rukna nhi chahiye

Paras Nath

बाबा साहब अम्बेडकर जी ने नवयुग की जो आधारशिला रखी मान्यवर काशी राम जी ने उसे आगे ले जा कर खडा किया आज गुजरात की घटना ने जो चुनौती दी आपने नेतृत्व दिया साधुवाद।समस्त भारतीय दलित अब एक मंच साझा कर राष्ट्रीय आन्दोलन शुरू करें।साधुवाद

N.R.Snehi

KOI TO NAYAK BNA . I SUPPORT U .ISS PER RAJNEETI NAA HO .THEEK HEE HAI SABHI RAJNEETIK DALO KO ISE DOOR RAKH RHE HAIN. I SALLUT YOU JIGNESH JI

shishu pal singh

Sc,St,Obc तथा मुस्लिम भाईयों के प्रति बढ़ते अत्याचरों के खिलाफ प्रिय जिग्नेश मवानी का अपने तमाम समर्थकों के साथ संघर्ष अपने हक की प्राप्ति तक जारी रहना चाहिए। मैं अपने सभी दोस्तों एवम् चाहने वालों के साथ मवानी तथा संघर्षरत साथियों का पूर्ण समर्थन करते है। जय भीम। सुनिश्चित जीत अपनी होगी।

Chauthi Ram

जय भीम नमो बुद्धाय।

anuj kumar

Jignesh G , sathi Dalita andolan nu bahut hi sahi dhang nal chala rahe han.Mazbooti nal lado ate lead karo, You and your colleges may live long.

Kamal jit Paul

बहुत ही सराहनीय प्रयास है मेवानिजी द्वारा , Just keep it up. God bless you my dear a lots......

Devendra Singh

sangthan me sakti hoti hai

shaitan ram

jignesh bhai apne andolan ko rajniti se mat jodna warna andolan pichhe chala jayega aur aap khatam ho jayega aane wali pidhi ko bhi koi aandesh nahi milega lkyo ki dushman bahot chalak hai

umesh bhaladhare

Sh.mahender narayan Singh Yadav ji app bilkul sahi aur acha Likha thanku sir

Vinesh kr

अपनी राय देने वाले सभी जनों को बहुत-बहुत धन्यवाद। www.newslive24.in हमेशा आप लोगों की अपेक्षाओं पर खरा उतरने की कोशिश करती रहेगी। आशा है, आप लोग आगे भी अपनी राय इसी तरह देते रहेंगे।

Mahendra Narayan Singh Yadav

Jigneshbhai ko bahot bahot dhanyawad aap age badho hamara pura sahkar hai

Nagin Parmar

Good

Subhash dhoke

Good report. Good reporting.

Pradeep tyagi

Good report. Good reporting.

Pradeep tyagi

क्रन्तिकारी नायक जिग्नेश के विषय में विस्तृत जानकारी जरुरी थी,जिसे आप ने बेहतरीन तरीके से अंजाम दिया है.हम इसके लिए आभार प्रकट करते हैं.

S P Kuril

क्रन्तिकारी नायक जिग्नेश के विषय में विस्तृत जानकारी जरुरी थी,जिसे आप ने बेहतरीन तरीके से अंजाम दिया है.हम इसके लिए आभार प्रकट करते हैं.

S P Kuril

Who is our enemy? Rss Bjp+Congress is our enemy. They are symmetric brahminical and capitalist. We've to understand this basically. Obc and Nomadic tribe's are our brothers and sisters we've to become rular of this country. Need to focus on cultural and economical movement similarly. Dalits want to independence they want to become Rular of this country. Hard study what Babasaheb Ambedkar gives suggest in Independent Labour Party and RPI Menifesto. Should implement it

Kranti zindabad

Jugendra Jaatav

Jingneshbhai ame tamari sathe chiye dalito ma he chetana lavava ni jarur hati te tame lavya cho bas aa dalit kranti ne shant na thava deta jay bhim

Rahul Ratnottar

महेन्द्र सर सटीक और सारगर्भित लेख के लिए धन्यवाद।

Purushottam

महेन्द्र सर सटीक और सारगर्भित लेख के लिए धन्यवाद।

Purushottam

महेन्द्र सर जी सटीक और सारगर्भित आलेख के लिए धन्यवाद।

Purushottam

Jankari pahuchane ke liye Bahot bahot dhanyawad ......achhi lekh hai.

sanjay jangde

Thanks mahendra sir.&jignesh,its very good movement of our s.c,s.t.,o.b.c.,independent.you are come on,we are ready for indepent your hand to hand.jai bheemrav.jai Buddha.thanks.mahendra sir.

b.d.vigora

Keep it up

sudhirjadhav

Nation is in need of such a movement. I whole heatedly support your movement and would like to join it also. Congratulation.

Jitender Bhartee

Very good information sir ji...jai bhim.

pramod chaudhary

Very good information sir ji...jai bhim.

pramod chaudhary

Very good information sir ji...jai bhim.

pramod chaudhary

ye post apki dalit chetana ke liye bahut sarahneeya hai. app ke lekh ki jitani tareef ki jaye wo kam hai. actully app jaise patrakar hi baba ke mission ko aage bada rahe hai. appp se anurodh hai ki ye jwala jalaye rakhana hai. hazaro peediyo se jaati ka dans jhel rahe hai. iss hero ko salam. aur app ko bhi sahraday danyawad. kartar singh teacher allhabad.

kartar singh

जिग्नेश जी, ध्यान रहे की दसवी शर्त महत्वपूर्ण है जो 22 प्रतिज्ञाओ से संबन्धित है। आपसे अनुरोध है की सभी दलितो से यह प्रतिज्ञा लेनी चाहिए की वे इन 22 मे से पहली प्रतिज्ञा को अवश्य माने...

Prashant Nilatkar

Bohut badhiya Aartical.

Rupali Jadhav

Bahut Badhiya Artical jisse Gujartke Aandolanki Paristhiti Samz pai.

Rupali Jadhav

आपका प्रयास सराहनीय है ।पर एक निवेदन कि इस आंदोलन को गलत हाथों मैं मत जाने देना और भाषा सयंम तथा धार्मिक विद्वेष न पैदा हो क्योंकि कुछ सरफिरे लोगों के कारण पूरा समाज और धर्म गलत नहीं हो जाता कल श्री मोदीजी द्वारा भी कड़ा सन्देश दिया गया है आशा है इससे कुछ स्थिति सुधरेगी ।।आपको शुभकामनायें।।

सुधीर अग्रवाल

Selut for jignesh mevani

khamanaram jaisalmer

Blue selut for jignesh mevani sir babasaheb ke sapno ki or agrsar bhart

khamanaram jaisalmer

आपका प्रयास सराहनीय है ।पर एक निवेदन कि इस आंदोलन को गलत हाथों मैं मत जाने देना और भाषा सयंम तथा धार्मिक विद्वेष न पैदा हो क्योंकि कुछ सरफिरे लोगों के कारण पूरा समाज और धर्म गलत नहीं हो जाता कल श्री मोदीजी द्वारा भी कड़ा सन्देश दिया गया है आशा है इससे कुछ स्थिति सुधरेगी ।।आपको शुभकामनायें।।

सुधीर अग्रवाल

Aap ne Jo likha vo shi he aaj Jignesh Hardikse jyada prbhavsali he lekin dalito KO is bat KO samjana ourjagruti Lana jay bhim

Rathod.m.b

पुरे देशमे दलीत समाज पाटीँ होना हिऐ कोइ और पाटीँ नहि कोग्स भाजप आप सबको बाय बाय ऐकी नारा दलीत समाज पाटी तभी अपना उधार होगा.

राजवीर राठोड

Bahot badhiya sir, aap ko, jignesh mevani or sabhi sangadhano ko bahot badhai.

girishkumar s solanki

जिग्नेशभाई और हार्दिक पटेल की तुलना हो ही नहीं सकती. हार्दिक को एक ऐसे समाज का साथ हे जो ऑलरेडी जागृत हे और साधन सम्पन हे और पाटीदार समाज तो गुजरात में किंग मेकर भी माना जाता हे.. जब के जिग्नेशभाई के पास ७% दलित समाज को जगाने का और उनको भी एक साथ एक छत के नीचे लाने का चुनोती भरा काम भी हे। हार्दिक हाई प्रोफाइल हे जब के जिग्नेशभाई लौ प्रोफाइल रहना पसंद करते हे. हार्दिक BMW में घूमता हे जब के जिग्नेशभाई ८१ चल के समाज को जगाने का काम कर रहे हे .. हार्दिक बात बात पे घूम जाता हे और जिग्नेशभाई ने अभी तक एक भी बात से उ टर्न नहीं लिया। ऐ होता हे एक सच्चे samaj ka सच्चा neta

Gautam Solanki

सलाम जिगनेश भाई और उसकी टीम को। आज समाज को ऐसे ही जुझारू युवाओं की जरूरत है।

गिरधारीलाल पी दोलिया

Me jignesh mevani aur unki team ke jajve ko salaam krta hu .jinhone upni mehnat Saahas aur sujhbujh Se Gujrat ke dalito ko ekjut kr ek Manch pr ektrit kr is mahaan karya ko anjaam diya . Ye abhiyaan apki leadership m apne anjaam pr pahunhe iske liye shubhkamnaye aur samarthan

G R Rampure

Good

Sunil raut

Good

Sunil raut

Very good jay bhim

mehulkumar

Good work bro magar hamare samaj k log agar mandir mein Jana choddeti de or puja paath karwana chod de to ye bhraman samaj or netao ki economi khatam hojayegi or hum unse aage nikal sakte hai..jai bhim

Ketan baria

Jignesh ji aap sanghrsh kro pura bahujan samaaj aap ke saath hai. Jay Bheem Jay Bharat

Shivkumar

Hardik abhinandan aap jaiso ki hamare samaj ko bahot jarurat h ham bhi aap ke sath h Jai Bhim Jai Bhart

Chandraksla Gautam

Jignesh dada aawaj maharastra sebhi ayegi sirf .......

Yogesh k more

Jignesh ek letter likh ke Vada Pradhan ki bolti bandh kar Santa he to andiben ka istifa to uske liye mamuli Kam he.. Jignesh bahoti bahdur or sahshik karykarta he or hame naj he Jignesh par.. Jay Bhim......

Hitesh solanki

जिग्नेश मेवानीजी के होसले को सलाम, मैं उम्मिद करता हुँ की वो दलित, आदिबासी, मूल निबासी बहुजनो के मिशनको सही दिशानिर्देश देगें।बाबा साहब और दादा साहब के अधूरे मिशन भी गतिमान रहेगी।

पैरवी

Ab vakt Aa gya hai humm avi ko ekjut hone ka aur apni hai k liye ladai ladne na.....

Rajesh Prajapati from Lucknow

सिर्फ हंगामा खडा करना मेरा मकसद नही मेरी कोशिश है कि ये सूरत बदलनी चाहिए| जिग्नेशजी क्रांतिकारी जयभीम

देवेंद्र निकम

nice very nice

sandeep kumar

Pls send me phone number leading person .

Jaswinder kaur

Pls send me phone number leading person .

Jaswinder kaur

जयभिम जिग्नेश भाई आपके इस हौसले बुलंदको सदैव हार्दिक शुभकामनाये अब इनको मालूम गीरेगी अपनी एकता की ताकद

प्रफुल्ल वाकोडे

Jai bheem

Hawa Singh

Yeh jan kar aacha laga ki hamare bai log aapne aaghikatro ko jangaye hai aur une lene ki kosis kar rahe hai hum aapni sarto me jaroor kamyab honge.JAI BHIM JAI BHARAT

Narendra singh sankhwar

Jignesh megwani jee....apne ne jis tarah se kranti ki shuruwat ki hai ....ham apke ham sab dalit varg ke liye esaka asar pure bharat me dikh rah hai...apke mehanat ko salam or ....ham bhi apke sath hai....jai bheem .....

Jay Bhatia

सदियों से पीड़ित वंचित वर्ग का ही नहीं बल्कि पूरे मानवीय समाज का ये आंदोलन वास्तविक रूप से - सामाजिक और आर्थिक आधार पर कतिपय स्थापित व किये जा रहे मनुवादी अन्याय विरुद्ध रणभेरी है, पूरे जोश खरोश से मूवमेन्ट चलाने के लिए सभी प्रतिभागियों को नीला और लाल सलाम, ऐसा प्रतीत होता है कि, ये चिंगारी समस्त अन्यायकारी व्यवस्था को जलाकर अब राख राख कर देगी और देश में मानवीय आजादी - समानता - बंधुत्व का मार्ग प्रसस्त करेगी... हार्दिक शुभकानाएं..! "अगर कहीं भी अन्याय होता है, तो यह समझिये कि सभी जगह न्याय के लिए खतरा है...!" _मार्टिन लूथर किंग जूनियर.

sc amba

Aap ko dill se jai bhim Megwani get. Aap ne sabhi dalito ko ek munch per jod ker sabhi ko is samaj ki shakti ka ehsas kara diya hai .Aap ne Ambedker yug ki suruwat ker de hai. Jai Bhim Sahab.

yogesh kumar

Bhut kuch hona baki h abhi....,.,,ye tho Gugrat m hu h,ab all India m hoga ,,,jai bhim

Ritesh Ambedkar

आंदोलन की कमान हर हाल में एससी एसटी और ओबीसी के पास ही रहना ज़रूरी है। जल्द ही इस आंदोलन में फर्जी नायक स्थापित करने की कोशिश की जाएगी। केजरीवाल जैसे अवसरवादी और सवर्णवादी नेता इस आंदोलन को अपनी ओर खींचने की कोशिश करेंगे। इस बारे में सतर्क रहना ज़रूरी है मेवानी जी को।

Mahendra Narayan Singh Yadav

मूलनिवासियो की एकता पर हमे नाज हैं।

Ranjeet

जिसका आंदोलन है वही कमान सँभाले। प्रगतिशील सवर्णों का भी आंदोलन में स्वागत है। वे आएँ और दलित नेतृत्व स्वीकार करें। केवल अगुवा बनने की शर्त पर आने वाले सवर्णों को दूर रखना चाहिए। गुजरात के दलित लोगों को एसटी और ओबीसी को साथ लेकर अपना जनाधार बढ़ाना चाहिए और अगले चुनावों में भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी जैसे एससी, एसटी, ओबीसी विरोधी दलों को उखाड़ फेंकना चाहिए। याद रखें, ये तीनों एक समान हैं।

Mahendra Narayan Singh Yadav

Very good

Sheel Kumar Nanda

such type of Agitation was done by Dr.babasaheb ambedkar at mahad, we thanks to G ignesh

S.H.Somkuwar

Dost aapki bate blud me yk ssndani vhai sale mato ke liye parti wale kuch bhi katte dalito ke liye kuch nahi kiya Ambedkar ne kahatha pade logose jadha dar hi dalitode ko kalm 140 mudha utav dosto Tumara yek samaj sevak Gautam

Gsutam Tingote

We proud of you .Slow and Steady wins the race. Jai Valmeki

Bunty gill

Dost aapki bate blud me yk ssndani vhai sale mato ke liye parti wale kuch bhi katte dalito ke liye kuch nahi kiya Ambedkar ne kahatha pade logose jadha dar hi dalitode ko kalm 140 mudha utav dosto Tumara yek samaj sevak Gautam

Gsutam Tingote

Dost aapki bate blud me yk ssndani vhai sale mato ke liye parti wale kuch bhi katte dalito ke liye kuch nahi kiya Ambedkar ne kahatha pade logose jadha dar hi dalitode ko kalm 140 mudha utav dosto Tumara yek samaj sevak Gautam

Gsutam Tingote

Jignesh bhai age badho. Hum tumhare sath hain . From Odisha

Surendra Bhoi

ऐसे प्रतिभा को मेरा सलाम है|जरूरत है आंदोलन को और आगे ले जाने की

Abhinandan kumar

ब्राम्हण हिंदू धर्म ने इंसानियत पर jo

NIKHIL PRAJAKTE

I would like to appeal to all who are victims of Brahman Hindu religion must clearly know that there is no ground for humanity. HINDU RELIGION IS HELL OF VARN, CASTE DESCRIMINATION. SO NOBODY WILL BE HAPPY. HINDU RELIGION RAPED HUMANITY. THEREFORE I APPEAL TO VICTIMS OF HINDU RELIGION FROM GUJARAT TO KICK AT ONCE HINDU RELIGION A CURSE ON HUMANITY. IF YOU WANT TO FREE FROM THE HELL OF UNTOUCHABILITY, CASTE,VARNA ACCEPT THE PATH OF PEACE SHOW N BY WORLD'S NO SCHOLAR AND FATHER OF MODERN INDIA AND IT'S DEMOCRACY AND A VALIANT FIGHTER OF HUMAN DIGNITY DR. BABASAHEB AMBEDKAR, THAT OF BUDDHISM WITHOUT WHICH HUMANITY IS IMPOSSIBLE HATS UP TO JIGNESH MEWAANI AND HIS TEAM AND PEOPLE OF GUJARAT WHO ARE CURSEF DUE TO HINDU RELIGION .

निखिल प्राजक्ते --गोवा

जय भीम

Ashwani kumar

Mr. Mevani. Very goods

vinod Rathod

समाज को बदलने के लिए कुरीतियों और जातिभेद को ख़त्म करना ही पडेगा। भाई जिग्नेश द्वारा किया गुजरात में दलित उत्पीड़न के खिलाफ आन्दोलन देशव्यापी होगा। मनुवादी मानिसकता का अंत ही एक समाधान है। हम सब साथ है। डॉ अम्बेडकर राष्ट्रीय एकता मंच इस आंदोलन के साथ है।

Er SP Singh

समाज को बदलने के लिए कुरीतियों और जातिभेद को ख़त्म करना ही पडेगा। भाई जिग्नेश द्वारा किया गुजरात में दलित उत्पीड़न के खिलाफ आन्दोलन देशव्यापी होगा। मनुवादी मानिसकता का अंत ही एक समाधान है। हम सब साथ है। डॉ अम्बेडकर राष्ट्रीय एकता मंच इस आंदोलन के साथ है।

Er SP Singh

जिग्नेश जी आप समस्त देश के दबेकुछले लोगोंके लिये ऊर्जा स्त्रोत बन गये है। धन्यवाद यादव जी ।

आनंद शंकर घोक्षे

जिग्नेश जी आप समस्त देश के दबेकुछले लोगोंके लिये ऊर्जा स्त्रोत बन गये है। धन्यवाद यादव जी ।

आनंद शंकर घोक्षे

जिग्नेश जी आप समस्त देश के दबेकुछले लोगोंके लिये ऊर्जा स्त्रोत बन गये है। धन्यवाद यादव जी ।

आनंद शंकर घोक्षे

Please sent me contact no. We shall do somthing in favour of Gujrat Andolan.

Satish Kumar Bharti Jalandhar.M no.9814975770

Jignes mewani aap sanghars karen .aapko log chota AMBEDKER jarur kahenge.Hunse jaisa bhi sahyog chahii aapko melega.

VINOD RAWAT

Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75859