Saturday, 18th November 2017

फ्लाई ऐश की ईंटों को बढ़ावा देना जरूरी : सांसद लक्ष्मी नारायण यादव

Fri, Aug 5, 2016 12:04 AM

नई दिल्ली, 4 अगस्त, 2016 : सागर के सांसद लक्ष्मी नारायण यादव ने कहा है कि प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए फ्लाई ऐश से बनी ईंटों को बढ़ावा दिया जाए और ईंट भट्टों पर रोक लगाई जाए।

लोकसभा में शून्यकाल में श्री यादव ने यह मुद्दा उठाया और कहा कि देशभर में लाखों ईंटभट्टे चल रहे हैं जो प्रदूषण फैला रहे हैं। इसके अलावा हर साल बड़ी मात्रा में उपजाऊ मिट्टी भी इनके लिए खोद ली जाती है जिसका असर देश की कृषि उपज पर भी पड़ता है। श्री यादव ने सुझाव दिया कि प्रदूषण रोकने के लिए ईंट भट्टों पर पाबंदी लगाई जाए और विकल्प के रूप में फ्लाई ऐश और सीमेंट से बनने वाली ईंटों के चलन को प्रोत्साहन दिया जाए। श्री यादव ने कहा कि प्रदूषण रोकने के लिए अगर इस स्तर पर काम न किया गया तो आने वाले समय में हालात और भी बदतर हो जाएंगे और नई पीढ़ी को बहुत नुकसान उठाना पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि श्री यादव भट्टों की ईंटों के विकल्प के रूप में फ्लाई ऐश की ईंटों के इस्तेमाल के प्रबल समर्थक रहे हैं और इसके लिए उन्होंने काफी अध्ययन भी किया है। श्री यादव का मानना है कि ईंट भट्टे न केवल प्रदूषण फैलाते हैं, बल्कि उपजाऊ मिट्टी भी खत्म करते हैं। इतना ही नहीं, देश के ईंट भट्टे बड़ी संख्या में बंधुआ मज़दूरी के अड्डे भी बने हुए हैं। देश में जितने भी मामले बंधुआ मजदूरी, बेगारी और श्रमिक शोषण के आते हैं, उनमें बड़ी संख्या ईंट भट्टे के मजदूरों की होती है। ईंट भट्टों पर काम करने वाली महिलाओं का शारीरिक शोषण भी होता है और बाल मजदूरी को भी इनके जरिए बढ़ावा दिया जाता है।

श्री यादव का मानना है कि ईंट भट्टों पर रोक लगाकर और फ्लाई ऐश की ईंटों के इस्तेमाल का चलन बढ़ाकर वैज्ञानिक स्तर पर प्रदूषण का निपटारा भी हो सकता है, और सामाजिक तथा आर्थिक स्तर पर बंधुआ मजदूरी और बाल मजदूरी जैसी समस्याओं का भी समाधान हो सकता है।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

31 %
9 %
59 %
Total Hits : 77342