Sunday, 19th November 2017

खिलाड़ियों के खिलाफ साज़िश कौन कर रहा है?

Tue, Jul 26, 2016 1:27 PM

रियो ओलंपिक में जाने के लिए तैयार पहलवान नरसिंह यादव के साथ जिस तरह से साजिश करके उन्हें डोपिंग मामले में फँसाया गया है, उसकी साजिश का तो बहुत हद तक खुलासा हो गया है। रसोइये ने कबूल कर लिया है कि नरसिंह के भोजन में किसी ने दवाई  मिलाई थी। यही कारण रहा कि नरसिंह के साथ भोजन करने वाले पहलवान तुलसी यादव भी डोपिंग में फंस गए जबकि वे ओलंपिक में जाने वाले भी नहीं थे। अब ताजा खबर रियो ओलंपिक से एक हफ्ते पहले भारत को दूसरा बड़ा झटका लगने की  है। पहलवान नरसिंह यादव के डोप टेस्ट में फेल होने के बाद अब गोला फेंक (शॉट पुट) खिलाड़ी इंद्रजीत सिंह भी डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं। एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एएफआई) के अध्यक्ष एजे सुमारीवाला ने इस पर कोई भी बयान देने से अभी इनकार किया है और कहा है कि अभी इस बारे में कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। वहीं फेडरेशन के महासचिव सीके वाल्सन ने बताया कि डोप टेस्ट में एक सैंपल पॉजिटिव पाया गया है. फेडरेशन को इस बारे में देर रात जानकारी मिली है।

बड़ा सवाल उठ रहा है कि कौन है जो भारतीय खिलाड़ियों को ओलंपिक में नहीं जाने देना चाहता। आज हर कोई जानता है कि किसी भी तरह की शक्तिवर्धक दवा लेने पर डोपिंग में पकड़ा जाना तय है, फिर ऐसे में खिलाड़ी ऐन मौके पर ऐसी गलती क्यों करेंगे। रसोइये ने ये तो मान लिया है कि जब वह भोजन बना रहा था, तब कोई आकर खाने में कोई दवा डाल गया था। अभी ये पता करना बाकी है कि दवा डालने वाला कौन था, और सोनीपत के कैंप में उसकी एंट्री कैसे हुई और उसने किसके इशारे पर ऐसा किया। नरसिंह यादव के मामले में तो पहलवान सुशील कुमार और उनके ससुर सतपाल पर सीधा आरोप लग रहा है। यही कारण है कि नरसिंह के डोपिंग में फेल होने की खबर पर ट्वीट के जरिए तंज कसने वाले सुशील कुमार ने अब पाला बदलते हुए नरसिंह का समर्थन किया है।

कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष ब्रजभूषण सिंह ने पहलवान नरसिंह यादव के समर्थन में ऐलान किया कि नरसिंह के खिलाफ साजिश हुई है। सिंन ने तो यहां तक आरोप लगाया कि सोनिपत के कैंप में नरसिंह के साथ कोई साजिश की गई।

सिंह ने नरसिंह की तारीफ करते हुए कहा कि 50 से ज्यादा कुश्ती लड़ चुके नरसिंह ने कभी भी डोप टेस्ट देने से मना नहीं किया। कई खिलाड़ी यह टेस्ट देने से मना करते हैं। उन्होंने कहा कि नरसिंह की इस बात की सभी जगह तारीफ होती है और यहां तक की खुद नाडा भी नरसिंह की इस बात के लिए तारीफ कर चुका है।

नरसिंह के साथ हुई साजिश की बात कहते हुए सिंह ने कहा कि सोनिपत के कैंप की महिला इंचार्ज पर शक की सुई जाती है। फेडरेशन का आरोप है कि 5 जून को खाने में छौंक लगाते समय प्रतिबंधित दवा डाली गई।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

34 %
9 %
57 %
Total Hits : 77441