Friday, 22nd September 2017

योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण बनाएँगे नई पार्टी : 31 जुलाई को होगा ऐलान

Tue, Jul 26, 2016 10:53 AM

 

नई दिल्लीः कभी केजरीवाल के साध कंधे से कंधा मिलाकर अन्ना आंदोलन खड़ा करने में अहम भूमिका निभाने वाले, फिर राजनीतिक पार्टी 'आप' के बनने के बाद भी केजरीवाल के खास सहयोगी रहे प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव अब अलग पार्टी बनाने जा रहे हैं। इसके लिए स्वराज अभियान के तहत योगेंद्र और प्रशांत काफी दिनों से तैयारी कर रहे थे और अब 31 जुलाई को दोनों नई पार्टी गठन करने का ऐलान करने वाले हैं।

 दिल्ली में ऐतिहासिक जीत से पार्टी के अच्छे दिन आए तो केजरीवाल और योगेंद्र यादव तथा प्रशांत भूषण में  मतभेद बढ़ गए थे। फिर एक दिन ऐसा आया जब केजरीवाल ने दूध में गिरी मक्खी की तरह योगेंद्र यादव व भूषण को निकाल फेंका। निष्कासन के बाद ही  योगेंद्र यादव व भूषण केजरीवाल को सबक सिखाने के लिए साथी नेताओं संग जमीन तैयार करने में जुट गए। छह राज्यों के सौ जिलों में स्वराज नामक संगठन खड़ा करने के बाद अब योगेंद्र यादव उसे राजनीतिक पार्टी की शक्ल देने जा रहे हैं। 31 जुलाई को इसकी घोषणा होने की बात कही जा रही। आप से निष्कासित नेताओं का कहना है कि केजरीवाल अन्ना आंदोलन के मिशन से भटक कर अब घिसी-पिटी राजनीति करने लगे। यही वजह है कि नई पार्टी बनाने की जरूरत महसूस हुई। 

 

आम आदमी पार्टी से निष्कासित प्रशांत भूषण, आनंद कुमार, अजीत झा फिलहाल स्वराज संगठन में काम कर रहे हैं। फिलहाल इसका संयोजन आनंद कुमार कर रहे हैं। मीडिया प्रभारी अनुपम का कहना है कि 31 जुलाई को होने वाली प्रेस कांफ्रेंस में स्वराज पार्टी की रूपरेखा स्पष्ट कर दी जाएगी।  

पंजाब ्में आम आदमी पार्टी के चार लोकसभा सांसद जीते थे जिनमें से दो हरिंदर सिंह खालसा और धर्मवीर गांधी को पार्टी से निकाला जा चुका है क्योंकि ये दोनों केजरीवाल की हां में हां मिलाने को तैयार नहीं थे। ये दोनों सांसद योगेंद्र यादव के साथ आकर पंजाब में आम आदमी पार्टी को नुकसान पहुंचा सकते हैं। नवजोत सिद्धू के आम आदमी पार्टी में आने की खबरों से भी पार्टी के कई नेता-कार्यकर्ता नाराज हैं। ऐसे लोग भी योगेंद्र यादव के साथ आ सकते हैं।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75828