Sunday, 19th November 2017

गुजरात दलित आंदोलन : 7 युवकों ने की आत्महत्या की कोशिश

Thu, Jul 21, 2016 12:50 AM

अहमदाबाद...राजकोट, 20 जुलाई : उना कस्बे में दलित समुदाय के युवकों की बेरहमी से पिटाई किए जाने की घटना के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच सात और युवकों ने आज आत्महत्या करने की कोशिश की जिससे राज्य में स्थिति और बिगड़ गयी। साथ ही, समूचे राज्य में कई जगहों से हिंसा और आगजनी की खबरें मिली हैं।   राजकोट, पोरबंदर, बोतड और गिर-सोमनाथ जिलों में आत्महत्या की कोशिश की घटनाएं सामने आयी हैं।


 ताजा घटनाओं के साथ गत 11 जुलाई को कथित गोवध के लिए तथाकथित गोरक्षा दल द्वारा सात युवकों की पिटाई के बाद से आत्महत्या की कोशिश करने वाले दलितों की संख्या बढ़कर 17 हो गयी।   दलितों ने गोवध से इनकार किया था और कहा था कि उन्होंने केवल एक मृत गाय की चमड़ी निकाली थी।  राजकोट जिले के धोराजी शहर में आज तीन दलित युवकों ने किसी जहरीले पेय पदार्थ का सेवन किया जिसके बाद उन्हें पास के एक अस्पताल ले जाया गया। तीनों की पहचान योगेश सोलंकी, विनोद सोलंकी और हितू चौहान के रूप में हुई है। उनकी हालत बिगड़ने पर उन्हें जूनागढ़ के सरकारी अस्पताल ले जाया गया।
जिले के गोंडल नगर में मुकेश चावडा नाम के एक व्यक्ति ने जहर खा लिया जिसके बाद उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।
पोरबंदर जिले के बंतवा नगर में महेश राठौड़ नाम के एक व्यक्ति ने कथित रूप से जहर का सेवन किया जिसके बाद उसे जिला अस्पताल ले  जाया गया।
 उना में राजू परमार नाम के एक व्यक्ति ने जहर का सेवन कर अपनी जान देने की कोशिश की।
 बोतड नगर में परेश राठौड़ नाम के एक दलित प्रदर्शनकारी ने आत्मदाह की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उसे बचा लिया।
 पिछले दो दिनों में विरोध दर्ज कराने के लिए विभिन्न जगहों पर 17 दलित युवकों ने आत्महत्या करने की कोशिश की है।

 

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

32 %
9 %
59 %
Total Hits : 77357