Monday, 25th September 2017

67 के हुए लालू प्रसाद यादव। सोशल मीडिया में छाए

Sat, Jun 11, 2016 12:38 PM

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव आज अपना 67वां जन्मदिन मना रहे हैं। सुबह से ही उनके निवास पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी श्री यादव को बधाई दी है।

उन्हें बधाई देने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उनके आवास पर पहुंचे। नीतीश कुमार ने कहा कि लालू यादव का जीवन संघर्षों से भरा हुआ है. वे जिस पृष्ठभूमि से आते हैं, वहां से राजनीति में अपने लिए जगह बनाना उनकी संघर्षशक्ति को दर्शाता है। उन्होंने लालू यादव के लिए लंबी उम्र और सफल राजनीतिक जीवन की कामना की। इस मौके पर नीतीश कुमार ने मोदी सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि वे जिस तरह बिहार हारे हैं पूरा देश भी हारेंगे। उन्होंने कहा कि लालू यादव के साथ हमारा महागठबंधन और सफल होगा।

लालू प्रसाद के जन्मदिन पर पटना समेत पूरे बिहार में बड़े-बड़े पोस्टर लगाए गए हैं और कार्यकर्ताओं तथा नेताओं ने उन्हें अपनी बधाइयाँ दी हैं। श्री यादव ने रात के बारह बजे ही अपने घर पर पत्नी राबड़ी देवी के साथ जन्मदिन का केक काटा।

इस मौके पर लालू यादव सोशल मीडिया पर भी छाए हुए हैं। उनके पार्टी के समर्थक और समाजवादी विचारधारा से जुड़े लोगों ने फेसबुक पर उन्हें संघर्ष और सामाजिक न्याय का प्रतीक बताते हुए उन्हें बधाइयाँ दी हैं।

समाजवादी चिंतक वी एस यादव ने लालू यादव को जन्मदिन की बधाई देते हुे उनके विशिष्ट योगदान को याद किया है। उन्होंने लिखा है -भारतीय राजनीति में जातिवादी मीडिया ने जिस व्यक्ति का सर्वाधिक कुप्रचार किया, मीडियाई शोषण किया, दुराग्रह पूर्वक गलत झूठी और तोड़ मरोड़ कर खबरे प्रसारित कीं,कार्टून बनाये,चुटकुले बनाये, मिटाने की कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी, वो लालू यादव ही हैं। उन्होंने आगे लिखा है- जातिवादियो ने लालू जी को संसद से हटानेे के लिए देश का कानून तक बदला, जो कि विश्व इतिहास की पहली घटना है और इसी से अनुमान लगाया जा सकता है कि किस कदर नफरत भरी है जातिवादियों में। कभी किसी मीडिया ने यह नहीं बताया होगा कि चारा घोटाले का असली चाराखोर जगन्नाथ मिश्रा है। जातिवादी मीडिया की आँखों के कंकड़ लालू जी इसलिए हैं क्योंकि लालू जी ने दलितों को मन्दिर का मुख्य पुजारी बनवाया था। जातिवादी पुरोहित इस घटना से अन्दर तक हिल गए थे। इतना ही नहीं, लालू जी ने भारत के इतिहास में पहली बार डोला प्रथा ख़तम करवाई थी। डोला प्रथा सामंतवादियो की वह घिनौनी प्रथा थी जिसमे दलितों की बहुए पहली बार विवाह के बाद ससुराल जाने से पहले 24 घंटे सामंतवादियो के यहाँ जबरन रोकी जाती थीं ।

पटना में भानु कोचिंग सेंटर के जरिए ढाई महीने में किसी को भी बैंक पीओ बना देने की गारंटी देकर चर्चा में आए चंद्र भानु ने फेसबुक पर लिखा है- ओबीसी का सिर्फ एक मसीहा है, बाकी सब मूर्ख बनाकर वोट लेते हैं।

अलका यादव ने लिखा है- अब तक के "सबसे सफलतम" " रेलमंत्री" श्री लालू यादव जी को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ।

लालू यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद के रूप में निर्वाचित होने जा रही डॉ मीसा भारती ने लालू जी के जन्मदिन को  सामाजिक न्याय दिवस के रूप में मनाने का आह्वान किया है। उन्होंने लिखा है- अल्पकाल में ही श्री लालू प्रसाद जी जिस सामाजिक परिवेश में आमूलचूल बदलाव ले आए, उसकी मिसाल इतिहास में नहीँ के बराबर मिलेगी। प्रताड़ितों, उपेक्षितों, वंचितों, पिछड़ों, दलितों को उन्होंने आवाज़ दी, आत्मसम्मान और आत्मविश्वास जगाया, सवाल पूछने की हिम्मत दी, बराबर होने का विश्वास दिलाया, उनमें शिक्षा का अलख जगाया और सदियों से चल रही जाति आधारित अन्यायपूर्ण व्यवस्था को अपने ही अनोखे अंदाज़ से झुठला कर चूर चूर कर डाला। इस बदलाव को लाने और सत्ता के गलियारों तक शोषित वर्ग के दखल को बढ़ाने की लालू जी को 'सज़ा' भी मिली। पर इसका दंश, आप सब की दुआओं और शुभेच्छाओं की तुलना में बहुत फीका पड़ जाता है।

विधानसभा चुनावों में लालू यादव के खास सलाहकार और मीडिया सेल के प्रभारी संजय यादव ने लिखा है कि लालू जी को आप चाहे प्यार करें, या नफरत करें, लेकिन आप उनकी अनदेखी नहीं कर सकते।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75859