Monday, 25th September 2017

ओबीसी आरक्षण हटा रही है मोदी सरकार : लालू प्रसाद यादव

Thu, Jun 9, 2016 1:21 AM

 पटना, सात जून (भाषा:) विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के प्रोफेसर और एसोसिएट प्रोफेसरों के पदों पर भर्ती में ओबीसी आरक्षण हटाने के आदेश पर राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने मोदी सरकार की कड़ी आलोचना की।
    राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने  दावा किया कि केंद्रीय विश्वविद्यालयों में प्रोफसर और सहायक प्रोफेसर की भर्ती में केंद्र 27 फीसदी आरक्षण हटा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि यह दलितों के मसीहा भीम राव अंबडेकर की विचारधारा को खत्म करने की कोशिश है।
   हालांकि, दिल्ली में यूजीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने स्पष्ट किया कि साल 2007 में स्थापित नियमों के मुताबिक अध्यापन की नौकरियों में ओबीसी उम्मीदवारों के लिए 27 फीसदी आरक्षण को शुरूआती स्तर :इंट्री लेवल: पर इजाजत दी गई है। उन्होंने जोर दिया कि आरक्षण नीति में कोई बदलाव नहीं हुआ है। 
   केंद्रीय विश्वविद्यालयों को दिए यूजीसी के तीन जून के पत्र को लेकर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय पर हमला बोलते हुए लालू प्रसाद यादव ने दावा किया कि ओबीसी के आरक्षण के संवैधानिक प्रावधान के साथ खेलने की यह आरएसएस की जातिवादी ताकतों की कोशिश है।
   उन्होंने कहा, ओबीसी का आरक्षण चुरा कर आप किसे फायदा पहुंचाना चाहते हैं?  
   सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों को तीन जून को लिखे एक पत्र में यूजीसी ने नियमों के मुताबिक आरक्षण को लागू करने केा कहा गया है। पत्र में यूजीसी ने कहा था कि शिक्षण कार्यों में एससी के लिए 15 फीसदी, एसटी के लिए 7. 5 फीसदी सीटें तीन स्तरों पर लागू होने योग्य हैं जो हैं...असिसटेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर । 
   पत्र में कहा गया है कि ओबीसी के मामले में अध्यापकों के पदों पर 27 फीसदी कोटा सिर्फ असिसटेंट प्रोफेसर के स्तर पर ही लागू होने योग्य है। इसी वजह से लालू ने राजग सरकार पर हमला करते हुए दावा किया कि यह आरक्षण को हटाना चाहती है। 
   राजद प्रमुख ने दावा किया कि सरकारी आंकड़े के मुताबिक एससी:एसटी: ओबीसी कोटा की प्रोफेसर पद पर 60 फीसदी से अधिक सीटें रिक्त हैं।
   उन्होंने आरोप लगाया, यह दलितों के मसीहा अंबेडकर की विचारधारा को खत्म करने की कोशिश है...नागपुर के विचारों को संविधान से उपर प्रमुखता दी जा रही है।
   उन्होंने कहा कि देश की 60 फीसदी से अधिक आबादी ओबीसी है जो इस अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेगी। 
   उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि आरएसएस सरकार पर हावी है...कहां हैं प्रधानमंत्री, जो खुद को पिछड़ी जाति की मां का बेटा बताते हैं? 
   उन्होंने कहा कि इतिहास की त्रासदी देखिये। ओबीसी प्रधानमंत्री के शासन में यह सामाजिक विरोधी यह अन्याय हो रहा है । 

 

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75859