Saturday, 18th November 2017

प्रदूषण : दिल्ली की आबो हवा में सुधार

Thu, May 12, 2016 7:34 PM

ईरान का जाबुल शहर दुनिया का सबसे ज्यादा प्रदूषित
नई दिल्ली : दुनिया के कई शहर ऐसे हैं जिनकी आबोहवा इंसानी जीवन के लिए खतरनाक है। ऐसे शहर हमारे देश में भी हैं जहां प्रदूषण का स्तर वहां रहने वाले लोगों की जान के लिए मुनासिब नहीं। दुनिया के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर की छवि को सुधारते हुए हमारे देश की राजधानी दिल्ली वायु प्रदूषण के मामले में चौथे स्थान पर पहुंच गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़े बताते हैं कि विश्व  के 67 देशों के 795 शहरों में वायु प्रदूषण की जो स्थिति है उनमें हवा में पार्टिक्युलेट मैटर अर्थात मानव स्वास्थ्य के लिए घातक धूल के बेहद बारीक कणों के मामले में दिल्ली की आबो हवा में सुधार हुआ है। 
ईरान का जाबुल शहर दुनिया का सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर है। इसके बाद भारत के ग्वालियर, इलाहाबाद और दिल्ली आते हैं। दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र में कम और मध्यम आय वर्ग की एक लाख से ज्यादा की आबादी वाले 98 प्रतिशत शहरों में वायु प्रदूषण का स्तर डब्ल्यूएचओ की ओर से निर्धारित मानकों से काफी अधिक है। पांच वर्षों में इन आबो-हवा में प्रदूषण का स्तर पांच गुना बढ़ा है।
इन शहरों में पार्टिक्युलेट मैटर का स्तर बहुत अधिक है। ग्वालियर में स्थिति सबसे खराब है। इसके बाद इलाहबाद,पटना,दिल्ली रायपुर और लुधियाना का नंबर है। केवल तेजपुर ही एक ऐसा शहर है जहां प्रदूषण का स्तर मानक सीमा के दायरे में है। देश के 40 करोड़ घरों में अभी तक प्रकाश के लिए मिट्टी के तेल के दियों और लैंपों का इस्तेमाल होता है। पर्यावरण के नजरिए से यह बेहद नुकसानदेह है।
 पर्यावरण विशेषज्ञों के अनुसार भारत के साथ बंगलादेश और चीन के ज्यादा से ज्यादा शहर गलत दिशा में जा रहे हैं। कचरा जलावन इन शहरों में आम है जो वायु प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण है। हालांकि उनके अनुसार हर शहर में वायु प्रदूषण के लिए अलग-अलग कारण जिमेदार हैं। मसलन न्यूयार्क में वायुप्रदूषण का मुय कारण बड़े भवनों में इस्तेमाल की जाने वाली वातानुकूलित प्रणाली है। 
 डल्यूएचओ के अनुसार वायु प्रदूषण के कारण दुनियाभर में हर साल 30 लाख से ज्यादा लोग अकाल मृत्यु का ग्रास बन जाते हैं। हालांकि इन सबके बीच एक अच्छी खबर यह है कि उच्च आय वाले देशों के पचास प्रतिशत से ज्यादा शहरों तथा निम्न और मध्यम आय वाले देशों के एक तिहाई से ज्यादा शहरों में वायु प्रदूषण का स्तर पिछले पांच सालों में पांच प्रतिशत घटा है। 

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

31 %
9 %
59 %
Total Hits : 77342