Sunday, 19th November 2017

'रंगीन-लाइट' बनेगी बधिरों के कान, 'अंगूठी' से पढ़ सकेंगे दृष्टिहीन

Thu, Nov 19, 2015 6:12 PM

सिंगापुर। देखने और सुनने में अक्षम लोगों के लिए सिंगापुर के युवा वैज्ञानिकों ने दो अनोखे डिवाइस के मॉडल बनाए हैं। स्टार्टअप कंपनी एम्बॉडिड सेंसिंग के संस्थापकों का दावा है कि स्टीकईयर और फिंगररीडर डिवाइस क्रांतिकारी साबित होंगे। कंपनी ने तकनीकी परीक्षण कर लिया है और जल्द ही ये उपकरण बाजार में उपलब्ध होंगे।
बहरे लोगों के लिए स्टीकईयर का मॉडल पेश किया गया है जो साउंड के आधार पर रंगीन रोशनी प्रदान करेगा। उदाहरण के लिए, यदि कोई दरवाजा खटखटाहट रहा है तो वह हरी लाइट जलाएगा। कोई चीख रहा है तो लाल रोशनी दिखाई देगी। क्राउंडफंडिंग के जरिए पैसा उगाकर इसे मूर्त रूप देने की कोशिश की जा रही है। इस मॉडल को दुनियाभर के बधिर संगठनों द्वारा टेस्ट किया जा रहा है, ताकि जरूरी संशोधन किए जा सकें।
एम्बॉडिड सेंसिंग के सह-संस्थापक किआन पिन के मुताबिक, हमने कई बधिरोंसे बात की। अधिकांश यही जानना चाहते हैं कि क्या कोई दरवाजा बजा रहा है या उन्हें आवाज लगा रहा है। यह पूरी तरह से पोर्टेबल डिवाइस है। यानी घर या ऑफिस से बाहर भी इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।
स्टीकईयर ल्युमिज नामक सेंसर्स को सिंग्नल भेजता है। घर में एक से ज्यादा ल्युमिज लगाए जा सकते हैं। संबंधित आवाज सुनकर ल्युमिज चमक उठता है।
दृष्टिबाधितों के लिए फिंगररीडर
दृष्टिबाधितों के लिए फिंगररीडर बनाया जा रहा है। इसे अंगूठी की तरह पहना जा सकता है। इसमें लगे सेंसर शब्द पढ़कर उसकी आवाज निकालेंगे, जिसे दृष्टिहीन सुन सकेगा। एम्बॉडिड सेंसिंग के एक अन्य सह-संस्थापक सुरांगा नानायकारा ने बताया, यह कर्सर की तरह काम करेगा।
इंडेक्स फिंगर के सामने आने वाले शब्द को पढ़कर सुनाया जाएगा। यदि शख्स पंक्ति से भटक गया है तो यह वायब्रेट करने लगेगा।
------------------------------

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

32 %
9 %
59 %
Total Hits : 77357