Wednesday, 21st February 2018

गरीबी रेखा के सूचकांक बदलेंगे, तभी छत्तीसगढ़ में और आएगी उज्ज्वला

Fri, Feb 2, 2018 12:05 PM

रायपुर। केंद्रीय बजट में उज्ज्वला योजना के 9 करोड़ और कनेक्शन देने की घोषणा हुई है। इसका लाभ छत्तीसगढ़ को तभी मिल पाएगा जब उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों के लिए निर्धारित सूचकांक में केंद्र सरकार बदलाव करेगी।

वर्तमान में 2011 की जनगणना के अनुसार छत्तीसगढ़ में 3609306 परिवार गरीबी रेखा के नीचे हैं। विभिन्न सूचकांकों के आधार पर इन परिवारों को शासन की विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जाता है।

उज्ज्वला योजना का लाभ लेने के लिए कुछ ऐसी शर्तें हैं जिनकी वजह से गरीब परिवार भी सूची से बाहर हो जाते हैं। इसमें एक व्यक्ति से ज्यादा लोगों के परिवार, किसी परिवार के कम से कम दो सदस्यों का आधार कार्ड होना अनिवार्य जैसी शर्तें शामिल की गई हैं।

इन शर्तों को मिलाकर प्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे के सभी परिवारों को उज्ज्वला योजना का लाभ दिया जा रहा है। प्रदेश में इस साल मार्च तक उज्ज्वला योजना के कनेक्शन बांटे जाने हैं। 2016-17 में 10 लाख कनेक्शन बांटने का लक्ष्य था जो पूरा किया गया।

इस साल यानी 2017-18 में 15 लाख कनेक्शन बांटने का लक्ष्य है। खाद्य विभाग निर्धारित लक्ष्य के मुताबिक कनेक्शन बांटने की कवायद में जुटा हुआ है। ग्रामीण इलाकों में उज्ज्वला योजना के जितने कनेक्शन बांटे जा रहे हैं उससे ज्यादा मांग है।

निर्धारित दायरे में न आने से कई परिवार छूटे हैं। अब अफसरों को उम्मीद है कि केंद्र उज्ज्वला योजना के लिए निर्धारित सूचकांक भी बदलेगी, जिससे कई छूटे हुए परिवारों को इस योजना से जोड़ा जा सकेगा। अगर सूचकांक बदले तो प्रदेश में एक लाख और परिवारों को इस योजना का लाभ मिल सकता है।

- प्रदेश में बीपीएल के आवंटन सूचकांक के आधार पर उज्ज्वला के कनेक्शन बांटे जा रहे हैं। अगर केटेगरी में बदलाव होगा तो यहां और कनेक्शन मिल सकते हैं। अभी पूरी योजना नहीं देखा हूं। क्या सूचकांक निर्धारित किए गए हैं उसे देखने के बाद ही बता पाऊंगा कि छत्तीसगढ़ को और कनेक्शन मिलेंगे या नहीं। - मनोज कुमार सोनी, विशेष सचिव, खाद्य विभाग, छत्तीसगढ़

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

39 %
10 %
52 %
Total Hits : 81655