Monday, 25th September 2017

भज्जी की हुई गीता, रिसेप्शन में जा सकते हैं मोदी

Thu, Oct 29, 2015 6:00 PM

जालंधर. क्रिकेटर हरभजन सिंह और एक्ट्रेस गीता बसरा की शादी गुरुद्वारे में गुरुवार को हो गई। हरभजन और गीता का आनंद कारज ब्लाइंड बच्चों के आश्रम में हुआ। यहीं दोनों ने श्री गुरु ग्रंथ साहिब की हजूरी में लावां रस्म भी पूरी की। शादी में मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर और मुंबई इंडियन्स टीम के मालिक मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी शामिल हुए। उनके अलावा पार्थिव पटेल, प्रज्ञान ओझा, राहुल शर्मा सहित कई क्रिकेटर भी पहुंचे। शादी के बाद सभी लोग क्लब कबाना गए। गीता ने शादी में झारखंड के अहिंसा सिल्क से बनी ड्रेस पहनी। खास बात यह है कि ये ड्रेस खुद हरभजन ने सिलेक्ट की थी।
भज्जी ने ये कहा शादी के बाद
शादी के बाद हरभजन ने कहा, "आप मुबारक बाद दे रहे हो बहुत बहुत मेहरबानी...। आप लोगों की दुआओं की वजह से आज मैं और गीता इकट्ठे हुए हैं। उम्मीद है दुआएं इसी तरह साथ रहेंगी। मैं इस रिश्ते को काफी आगे लेकर जाऊंगा। मै और गीता इस रिश्ते को लेकर काफी उत्साहित हैं।"
शादी में काफी करीबी रिश्तेदार शामिल हुए। अब 30 अक्टूबर को कॉकटेल पार्टी है, जबकि 1 नवंबर को दिल्ली में रिसेप्शन है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पहुंच सकते हैं। उनके अलावा क्रिकेटर युवराज सिंह, टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली, बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान और प्रियंका चोपड़ा भी रिसेप्शन में जाएंगे।
इससे पहले भज्जी के निकनेम से मशहूर हरभजन के घर बुधवार को माइयां लगाने की रस्म निभाई गई। भज्जी के रिश्तेदारों ने उन्हें बटणा भी लगाया। इसके बाद जागो निकाली गई। यह प्रोग्राम रात करीब एक बजे तक चला। चूड़ा सेरेमनी से पहले भज्जी ने गीता से फोन पर भी बात की। गीता को उनके मामा ने सुहाग का चूड़ा पहनाया।
लंदन से आए गीता के मामा ने उन्हें चूड़ा और नथ पहनाने की रस्म निभाई। इस दौरान गीता बसरा की मौसी सोनू बाला, रमा और मां प्रवीण बसरा के अलावा बहन रूबी बसरा, भाई राहुल बसरा, नानी ज्ञान देवी, दादा वेद प्रकाश बसरा, दादी सुदर्शन बसरा मौजूद थीं। गीता ने अपने घर वालों और दोस्तों के साथ होटल में फोटो सेशन भी करवाया।
जानकारी के मुताबिक, हरभजन ने खुद गीता की ड्रेस फाइनल की है। बताया जाता है कि भज्जी ने गीता को अहिंसा सिल्क से बने ड्रेस पहनने की सलाह दी थी। गीता की ड्रेस डिजाइनर अर्चना कोचर ने वेडिंग कॉस्ट्यूम अहिंसा सिल्क से ही तैयार की है। हरभजन के लिए अर्चना और राघवेंद्र राठौर व बसरा के लिए अर्चना और बबिता ने ड्रेस डिजाइन की है। अहिंसा सिल्क झारखंड में तैयार होता है। भज्जी भी इसी सिल्क से बनी ड्रेस पहने हुए हैं।
सिल्क बनाने के इस तरीके पर रोक के लिए कुसुमा राजैया हैंडलूम्स सेक्टर की एक टेक्निकल एक्सपर्ट ने 1992 में एक ऐसा तरीका खोजा, जिससे रेशम के कीड़े को कोई नुकसान नहीं होता। इस तरीके से बनाई जाने वाली सिल्क को अहिंसा सिल्क कहा जाने लगा, क्योंकि इसमें जीव हत्या नहीं होती। जुलाई 2006 में कुसुमा को अहिंसा सिल्क का पेटेंट मिल गया।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75859