Wednesday, 21st February 2018

बसोर समाज ने फिर की एससी में शामिल किए जाने की माँग

Fri, Jan 19, 2018 9:40 PM

दिल्ली में बसोर समाज के सम्मेलन में बसोर जाति को अनुसूचित जाति में शामिल किए जाने की माँग फिर जोरों से उठी।
अन्नत्यागी गुरु गोकुल दास महाराज के 111वें जन्मोत्सव पर 6 जनवरी को पीतमपुरा में हुए समारोह में वक्ताओं ने कहा कि दिल्ली में बसोर जाति को एससी में शामिल करने की माँग कई मंचों और नेताओं के सामने उठाई जा चुकी है, लेकिन अब तक कोई खास नतीजा नहीं निकला।
 
अखिल भारतीय बसोर समाज विकास समिति के दिल्ली प्रदेश श्री राजन धमेरिया ने  कहा कि अखिल भारतीय बसोर समाज विकास समिति राजधानी में बसोर जाति एवं उसकी उपजातियों की माँगो/समस्याओं को लेकर पिछले कई वर्षों से प्रयासरत है।
उन्होंने कहा कि यहाँ तक कि संगठन ने केन्दीय मंत्री परिषद, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग, महामहिम राज्यपाल महोदय, माननीय मुख्यमंत्री महोदया से व्यक्तिगत प्रतिनिधि मंडल ने कई बार भेट कर ज्ञापन सौंपकर अनुरोध किया, किन्तु आज तक बसोर जाति एवं उसकी उपजातियों का नाम दिल्ली सरकार की अनुसूचित जाति की सूची में शामिल नही किया गया जिससे समाज आरक्षण व सरकारी सुविधाओं से वंचित है जिससे समाज में भारी रोष है।
श्री धमेरिया ने बताया कि संगठन के अनुरोध पर बुंदेलखंड के सागर के सांसद लक्ष्मीनारायण यादव ने लोकसभा में भी माँग उठाई कि बसोर जाति को दिल्ली में भी एससी का दर्जा दिया जाए। उस समय लग रहा था कि अब इस पर सरकार कुछ करेगी, लेकिन बाद में कुछ नहीं हुआ।