Wednesday, 22nd November 2017

'खादी फॉर ट्रांसफोर्मेशन' का नया नारा दिया मोदी ने

Sun, Oct 29, 2017 5:38 PM

नईदिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मन की बात आम नागरिक के जीवन से अभिन्‍न रूप से जुड़ गया है। उन्‍होंने कहा कि गांधी जयंती पर उन्‍होंने हमेशा ही हथकरघा और खादी के उपयोग पर जोर दिया जिसका नतीजा है कि इस बार धनतेरस के दिन दिल्‍ली के खादी ग्रामोद्योग भवन से एक करोड़ बीस लाख रूपये की रिकॉर्ड बिक्री हुई। खादी और हस्‍तशिल्‍प की बिक्री में करीब 90 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। उन्होंने कहा कि तमाम बुनकर परिवारों को इससे लाभ हुआ है। उन्होंने कहा की पिछले कुछ समय से मैं अनुभव से कह सकता हूं कि खादी फाउंडेशन और खादी फॉर फैशन के बाद अब खादी फॉर ट्रांसफोरमेशन की जगह ले रहा है। खादी गरीब से गरीब व्‍यक्ति के जीवन में, हैण्‍डलूम  गरीब से गरीब व्‍यक्ति के जीवन में बदलाव लाते हुए उन्‍हें सशक्‍त बनाने का शक्तिशाली साधन बनकर उभर रहा है। ग्रामोद्य के लिए ये बहुत बड़ी भूमिका अदा कर रहा है।   प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत ने हमेशा ही विश्‍व को शांति, एकता और सद्भाव का संदेश दिया है। उन्‍होंने कहा कि बेहतर कल के लिए सभी को शांति और सद्भाव से रहना चाहिए। आज आकाशवाणी से मन की बात कार्यक्रम में श्री मोदी ने कहा कि भारतीय सुरक्षा बलों ने न केवल देश की सीमा पर, बल्कि विश्‍वभर में शांति स्थापना में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्‍होंने कहा कि संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति सैनिकों के रूप में भारतीय जवान देश का गौरव बढ़ा रहे हैं। शांति स्‍थापना में संयुक्‍त राष्‍ट्र के प्रयासों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने वसुधैव कुटुम्‍बकम में अपनी आस्‍था के कारण इन प्रयासों में उल्‍लेखनीय योगदान दिया है। श्री मोदी ने कहा 18 हजार से अधिक भारतीय सुरक्षाबलों ने यूएन पीसकिपिंग ऑपरेशन में अपनी सेवायें दी है। वर्तमान में भारत के लगभग सात हजार सैनिक यूएन पीसकिपिंग इनिशिएटिव से जुड़े हैं और ये पूरे विश्‍व में थर्ड हाईएस्‍ट नम्‍बर है। अगस्‍त 2017 तक भारतीय जवानों ने, यूएन के विश्‍वभर के 71 पीसकिपिंग ऑपरेशन्‍स में से लगभग 50 ऑपरेशन्‍स में अपनी सेवायें दी हैं।   
श्री मोदी ने कहा कि भारतीय महिलाओं ने भी शांति प्रयासों में अग्रणी भूमिका निभाई है। भारत पहला देश था जिसने लाइबेरिया में संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशन में महिला-पुलिसकर्मियों को भेजा था। प्रधानमंत्री ने कहा कि महात्‍मा गांधी और गौतम बुद्ध की धरती से बहादुर शांति सैनिकों ने पूरे विश्‍व को शांति और भाईचारे का संदेश दिया है। इस संदर्भ में प्रधानमंत्री ने कैप्‍टन गुरबचन सिंह सलारिया, लेफ्टिनेंट जनरल प्रेम चंद और जनरल थिमैया का नाम विशेष रूप से लिया।श्री मोदी ने कहा कि भारत ने हमेशा ही महिलाओं की समानता पर जोर दिया है। संयुक्‍त राष्‍ट्र मानवाधिकार घोषणा पत्र इसका जीवंत उदाहरण है।
हाल ही में, जम्‍मू कश्‍मीर के गुरेज सेक्‍टर में सुरक्षाकर्मियों के साथ दिवाली मनाने का उल्‍लेख करते हुए श्री मोदी ने कहा कि ये स्‍मृतियां उनके दिल में हमेशा बनी रहेंगी। प्रधानमंत्री ने छठ महापर्व का उल्‍लेख करते हुए कहा कि यह प्रकृति की उपासना से जुड़ा पर्व है और जीवन में स्‍वच्‍छता के महत्‍व को उजागर करता है।

बच्‍चों में मधुमेह जैसी बीमारियों पर चिंता व्‍यक्‍त करते हुए श्री मोदी ने कहा कि ऐसा जीवनशैली और खानपान की आदतों में बदलाव के कारण हो रहा है। उन्‍होंने कहा कि स्‍वस्‍थ जीवनशैली बनाये रखने में खेल-कूद और योग लाभदायक हो सकता है।
योगा फॉर यंग इंडिया योग विशेष रूप से हमारे युवा मित्रों को एक हैल्‍थी लाइफ स्‍टाइल बनाये रखने और लाइफ स्‍टाइल डिस्‍ऑडर से बचाने में मददगार सिद्ध होगा। स्‍कूल से पहले 30 मिनट का योग, देखिये कितना लाभ देगा। घर में भी कर सकते है और योग की विशेषता भी तो यही है - वो सहज है, सरल है, सर्व-सुलभ है और मैं सहज है इसलिए कह रहा हूं कि किसी भी उम्र का व्‍यक्ति आसानी से कर सकता है। सरल इसलिए है कि आसानी से सीखा जा सकता है और सर्व-सुलभ इसलिए है कि कहीं पर भी किया जा सकता है। विशेष टूल्‍स व मैदान की जरूरत नहीं होती।   
श्री मोदी ने एशिया कप में जीत के लिए भारतीय हॉकी टीम को और डेनमार्क ओपन जीतने पर बैडमिंटन खिलाड़ी किदाम्‍बी श्रीकांत को बधाई दी। फीफा अंडर-17 विश्‍व कप का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इसका आयोजन सफल रहा।  
विश्‍वभर की टीमें भारत आई और सभी ने फुटबॉल के मैदान पर अपना कौशल दिखाया। भले ही, भारत खिताब न जीत पाये, लेकिन भारत के युवा खिलाडि़यों ने सभी का दिल जीत लिया। भारत समेत पूरे विश्‍व ने खेल के इस महोत्‍सव को एन्‍जॉय किया। फुटबॉल का भावी बहुत उज्‍ज्‍वल है, इसके संकेत मुझे आने लगे है।  
स्‍वच्‍छता की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने महाराष्‍ट्र के चंद्रपुर किले में इकोलोजिकल प्रोटेक्‍शन ऑर्गनाइजेशन नाम के स्‍वैच्छिक संगठन के स्‍वच्‍छता अभियान का उल्‍लेख किया।प्रधानमंत्री ने 4 नवम्‍बर को मनाई जाने वाली गुरू नानक जयंती का उल्‍लेख करते हुए कहा कि गुरू नानक देव सिक्‍खों के प्रथम गुरू ही नहीं, बल्कि समूचे विश्‍व के गुरू थे।
प्रधानमंत्री ने मंगलवार को सरदार वल्‍लभ भाई पटेल की जयंती की चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि किसी विचार को वास्‍तविकता में बदलना सरदार पटेल की विशेषता थी। उन्‍होंने एक भारत को एक सूत्र में बांधने की जिम्‍मेदारी ली थी। श्री मोदी ने लोगों से इस अवसर पर एकता दौड़ में भाग लेने की अपील की।
देश को एक अखंड राष्‍ट्र का स्‍वरूप देने में उनका योगदान अतुल्‍य है। सरदार साहब की जयंती के अवसर पर 31 अक्‍टूबर को देश भर में रन फॉर यूनिटी का आयोजन किया जाएगा, जिसमें देशभर से बच्‍चे, युवा, महिलाएं सभी आयु वर्ग के लोग शामिल होंगे। मेरा आप सभी से आग्रह है कि आप भी 'रन फॉर यूनिटी' आपसी सद्भावना के इस उत्‍सव में भाग लें।  मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पुण्‍यतिथि का भी स्‍मरण किया। श्री मोदी ने  बच्‍चों को पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्‍मदिन पर मनाये जाने वाले बालदिवस की भी शुभकामनाएं दीं। 

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

34 %
9 %
57 %
Total Hits : 77567