Tuesday, 19th September 2017

कैसी महिला सहानुभूति ?

Sun, Apr 16, 2017 12:51 PM

 

 

- नेहा

 

 

मासूमियत सी उम्मीद लिए

महिला महिला के पास आई

अर्थ न आधार न पक्ष न सहमति

न फेमिनिज्म का खुमार लाई

 पुरुषो की सोचपर धिक्कार

ये आरोप लगाई

जब झूठ की पोटली थमा

दुसरों की सहानिभूति पाई

फिर कैसी ये महिला सहानुभूति हुई?

पुरुष करते है अभद्रता

ये कहती है तू है कुत्ता

उस पर भी उतारू

महिला सम्मान की दुहाई लाई

 जब न दे महिला ही महिला का साथ

तब वह लगे राजनीतिक प्यास

अब मुझे ये कोई बताए

कि कैसे एक सुलभ महिला

गलत महिला का साथ दे आए

फिर कैसी ये महिला सहानुभूति हुई ?

भाषा की मर्यादा के आधार की दुहाई लाई।

 स्वयं उसी भाषा की धज्जिया उड़ाईं

फिर कैसी ये सेल्फिस फेमिनिज्म समाज में आई

सहानुभूति पर ये चलाकी से कदम बढ़ाई

घर बीमार को ये लंका ढाये

फिर भी कभी समाज में 

ये फेमिनिज्म आवाज न उठाई

फिर कैसी ये महिला सहानुभूति हुई ?

रोज रोती गाती आई

मदद स्वयं से पाती आई

कभी न समझ से कलम चलाई

न समाज को राह दिखाई

राजनीति की मदद को आगे ये आवाज उठाई

उस सहानुभूति की पॉवर से कई लाचार गिराई

फिर कैसी ये महिला सहानुभूति हुई ?

(युवा और उदीयमान कवयित्री नेहा ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त की है। वर्तमान में वे इलाहाबाद विश्वविद्यालय में पोषण विज्ञान में पीएचडी कर रही हैं।)

Comments 2

Comment Now


Previous Comments

superb di.....keep it up

Vinita yadav

superb di.....keep it up

Vinita yadav

Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

29 %
10 %
60 %
Total Hits : 75789