Friday, 24th November 2017

कश्मीर उपचुनाव: जबर्दस्त हिंसा के बीच सिर्फ सात फीसदी हुआ मतदान, रद्द हो सकता है चुनाव !

Mon, Apr 10, 2017 3:09 PM

 श्रीनगर: श्रीनगर संसदीय सीट पर रविवार को हुए उपचुनाव के दौरान हुई हिंसा में आठ लोगों की मौत हो जाने के बाद सत्तारूढ़ पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) ने निर्वाचन आयोग से मांग की है कि बुधवार को अनंतनाग संसदीय क्षेत्र में होने जा रहे उपचुनाव को स्थगित कर दिया जाए. निर्वाचन आयोग भी इस बात पर विचार कर रहा है कि रविवार को हुए चुनाव को कम मतदान के चलते रद्द किया जाए या नहीं, क्योंकि यहां सिर्फ सात फीसदी मतदान हुआ, जो पिछले 27 साल के इतिहास में सबसे कम रहा.

रविवार को कश्मीर में हिंसा की लगभग 200 घटनाएं दर्ज की गईं, जिनमें लगभग 100 सुरक्षाकर्मी ज़ख्मी हुए. दरअसल, उपचुनाव का बहिष्कार करने के अलगाववादियों के आह्वान के बाद प्रदर्शनकारियों ने उपचुनाव के दौरान पोलिंग बूथों को निशाना बनाया था, जिससे हिंसा हुई. अनंतनाग लोकसभा सीट से प्रत्याशी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के भाई तसद्दुक मुफ्ती ने कहा है कि यदि उनके हटने से चुनाव टल सकते हैं, तो वह पीछे हटने को तैयार हैं.

अनंतनाग सीट पिछले साल उस समय रिक्त हो गई थी, जब यहां की सांसद महबूबा मुफ्ती ने अपने पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद राज्य का मुख्यमंत्री पद संभालने के लिए लोकसभा से इस्तीफा दे दिया था. अनंतनाग में मतदान के लिए जिन सरकारी स्कूलों को चुनाव केंद्र बनाया गया है, सोमवार को उनमें से कुछ को आग लगा दी गई.

रविवार को पुलवामा में भी एक सरकारी हाईस्कूल में आग लगा दी गई थी. चुनाव आयोग ने बताया है कि श्रीनगर लोकसभा सीट पर उपचुनाव के दौरान रविवार को हुई हिंसा की वारदात में आठ लोग मारे गए थे, और पथराव तथा पेट्रोल बम धमाकों में कई घायल भी हुए थे.

श्रीनगर सीट से पीडीपी के नाज़िर खान के खिलाफ नेशनल कॉन्फ्रेंस के संस्थापक तथा पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला चुनाव मैदान में हैं. वैसे, हिज़्ब-उल-मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी की पिछले साल हुई मौत के बाद पीडीपी नेता तारिक हमीद कर्रा द्वारा इस्तीफा दे दिए जाने की वजह से रिक्त हुई श्रीनगर सीट पर कुल मिलाकर नौ प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.

रविवार को सुरक्षाबलों को उस समय गोलियां चलानी पड़ी थीं, जब भीड़ ने पोलिंग स्टेशन पर हमला कर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) को तोड़ना-फोड़ना शुरू कर दिया.पुलिस ने बताया कि भीड़ ने बीरवाह के एक पोलिंग स्टेशन तथा बडगाम में भी एक जगह ईवीएम को नुकसान पहुंचाया, और एक बस में भी आग लगा दी.

हिंसा की घटनाओं में हुई आठ लोगों की मौत का विरोध करने के लिए अलगाववादियों ने सोमवार से दो दिन की हड़ताल का आह्वान किया है.

जम्मू एवं कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने रविवार को नागरिकों की मौत पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा था कि उन्हें इस बात की पीड़ा है कि अधिकतर किशोर थे, जिन्हें हालात और मुद्दे की गंभीरता की समझ भी नहीं थी.

Comments 1

Comment Now


Previous Comments

ek baar radd to up kaa bji hona chahiye evm gadnadi ke chalte

LAKHAN guru

Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

34 %
10 %
56 %
Total Hits : 77699