Friday, 24th November 2017

उपचुनाव: कश्मीर में फायरिंग, 3 की मौत

Sun, Apr 9, 2017 2:06 PM

श्रीनगर संसदीय क्षेत्र में आज हो रहे उपचुनाव के दौरान बडगाम जिले में तीन लोगों की उस समय मौत हो गई जब सुरक्षाबलों ने एक मतदान केंद्र पर हमला करने वाली भीड़ को तितर-बितर करने के लिए गोली चलाई। इस दौरान कई लोग घायल भी हो गए। न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार बडगाम में पोलिंग बूथ पर पेट्रोल बम फेंके गए। बडगाम के नसरुल्लापोरा में भी प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई है। विपक्ष के नेताओं के इस हिंसा के लिए केंद्र, राज्य सरकार और चुनाव आयोग को जिम्मेदार बताया है। 

मतदान केंद्रों पर भीड़ ने किया हमला
अधिकारियों ने बताया कि बडगाम जिले में चरार-ए-शरीफ के नजदीक पाखरपुरा में सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने एक मतदान केंद्र पर धावा बोल दिया और इमारत में तोड़फोड़ की। सुरक्षाबलों ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए चेतावनी के रूप में गोली चलाई, लेकिन भीड़ पर कोई असर नहीं हुआ। अधिकारियों ने कहा कि गोलीबारी में छह लोग घायल हो गए जिनमें से तीन की बाद में मौत हो गई। मरने वालों में से दो की पहचान 20 वर्षीय मोहम्मद अब्बास और 15 वर्षीय फैजान अहमद के रूप में हुई है।

अधिकारियों के मुताबिक, मतदान केंद्रों पर तैनात सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के जवानों ने पांच गोलियां चलाईं क्योंकि उनके पास पेलट गन नहीं थी। हिंसा का मतदान पर बुरा असर पड़ा है। अब तक बहुत कम मतदान हुआ है। चाडूरा इलाके में भारी पथराव के चलते मतदान कर्मियों को दो मतदान केंद्रों से हटना पड़ा। उन्होंने कहा कि श्रीनगर, बडगाम और गांदरबल में दो दर्जन से अधिक जगहों से पथराव की खबरें हैं। पहले चार घंटों में कुल 12 लाख 61 हजार मतदाताओं में से केवल 3.3 प्रतिशत ने ही अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया है। उधर पुलिस ने बताया कि हिंसक भीड़ ने एक बस में आग लगा दी और बडगाम में कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीनें भी तोड़ दीं।

सरकार पर नाकामी का ठीकरा
उपचुनाव के दौरान हुई हिंसा को नैशनल कॉन्फ्रेंस ने केंद्र, राज्य सरकार और चुनाव आयोग की नाकामी करार दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा, 'मैं 20 सालों ने राजनेता हूं, पर चुनाव और प्रचार के लिए इतनी खराब स्थिति मैंने कभी नहीं देखी। यह राज्य सरकार, केंद्र और चुनाव आयोगी की असफलता है।' उधर पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि सरकार लोगों को मतदान करने के लिए सुरक्षित और शांतिपूर्ण माहौल दे पाने में नाकाम रही है।

फिलहाल पुलिस स्थिति को सामान्य बनाने में जुटी हुई है। इसके पहले चुनाव आयोग ने आधी रात से श्रीनगर संसदीय क्षेत्र में आने वाले तीन जिलों में इंटरनेट सेवा को निलंबित कर दिया। आयोग ने यह फैसला इस जानकारी के बाद किया कि पाकिस्तान के कुछ समूह उप-चुनाव के बारे में गलत खबरें फैला रहे हैं। गांदेरबल, श्रीनगर और बडगाम में इंटरनेट कनेक्शन फिलहाल बंद कर दिया गया है।

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

34 %
10 %
56 %
Total Hits : 77699