Friday, 24th November 2017

विज्ञान मेले में दिखा नन्हे हाथों का कमाल !

Thu, Mar 2, 2017 9:28 PM

दिल्ली: दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान के पुष्प विहार सेक्टर-1(विद्यालय न.1) में आयोजित कार्यक्रम में सर्वोत्तम अध्यापकों को  लिए शिक्षकों को पुरुस्कृत किया। इस अवसर पर 20 शिक्षकों के साथ ही साथ 1-1  चौकीदार, विद्यालय सहायक, सफाई कर्मचारी, नर्सरी आया को भी सम्मानित किया गया. चार बेहतरीन विद्यालयों को भी सम्मान से नवाज़ा गया. 
श्रीमती मीता सिंह(अतिरिक्त आयुक्त शिक्षा), श्री एस के सिंह(उपायुक्त),श्री सतेन्द्र चौधरी(अध्यक्ष वार्ड समिति), श्रीमती मंजू खत्री(उपनिदेशक), श्री नागराजन(निगम पार्षद) ने सभी पुरूस्कार बाँटे। प्रत्येक पुरुस्कृत अध्यापक/अध्यापिकाओं को विभाग की और से प्रशस्ति पत्र,शील्ड व् रु.२०००/- नकद दिया गया. गौर तलब है कि दक्षिणी क्षेत्र (ग्रीन पार्क) में 145 निगम विद्यालय हैं जहाँ लगभग 1300 अध्यापक/अध्यापिकाएं कार्यरत हैं। इससे पूर्व त्रिदिवसीय विज्ञान मेले का विधिवत उद्घाटन श्री मीता सिंह ने किया। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि ने सम्बोधन भी किया। अध्यापिकाओं और बच्चों के साझा प्रयास से बनाये गए विज्ञान मॉडल का निरीक्षण भी किया। विद्यालय के 16 कमरों को विद्यालयों की और से आये बेहतरीन मॉडल से सजाया गया है. आत्मविश्वास से लबरेज़ बच्चे अपने-अपने मॉडल के बारे में दर्शकों को बताते नज़र आते हैं.  विज्ञान, हस्त कला, अतुल्य भारत,डिजिटल इण्डिया और स्वच्छ भारत अभियान विषयों पर बच्चों के नन्हे हाथों का कमाल देखने योग्य है.मेले के प्रवेश द्वार पर ही पक्षियों के प्रति जागरूकता का सुंदर नमूना मनमोहक है. वृक्षों पर नाना प्रकार की चिड़ियों,तितलियों के मॉडल तिस पर कोयल की मीठी कूक और चिड़ियों की चहचहाहट की गूँज सबका ध्यान आकर्षित करती है. जहाँ मंच पर आज अध्यापकों के भाषण और कविता पठन प्रतियोगिताएं सम्पन्न हुईं वहीं कल बच्चों की क्विज़,भाषण,कविता और सुलेख प्रतियोगिताएं होंगी जबकि आखिरी दिन मिटटी के खिलौने बनाने की रोचक प्रतियोगिता का आयोजन होगा। मेले का समापन 2 मार्च को होगा जिसमें निगम पदाधिकारियों के आलावा महापौर भी उपस्थित रहेंगे।

दिल्ली नगर निगम के सभी 12 क्षेत्रों में प्रत्येक वर्ष 'क्षेत्रीय पुरूस्कार वितरण समारोह' का आयोजन किया जाता है. निगम में 5 वर्ष की सेवा के उपरान्त 'क्षेत्रीय पुरूस्कार', 10 वर्षों की सेवा के बाद 'निगम शिक्षक', ततपश्चात 15 वर्ष शिक्षण अनुभव वाले 'राज्य शिक्षक पुरूस्कार' व् 20 वर्ष सेवाधारी अध्यापक 'राष्ट्रीय सम्मान' हेतु पात्र हैं. 
देवली विद्यालय के श्री भूपेश चौधरी का नाम आते ही सभी दर्शक शिक्षकों ने खड़े होकर अभिवादन किया।  तालियों की गड़गड़ाहट के बीच शारीरिक निःशक्त अध्यापक को सम्मानित किया गया. उनकी हमसफ़र धर्मपत्नी भी इस अवसर पर उनके साथ मंच पर उपस्थित रहीं। भूपेश जी ने कभी अपनी कमी को अपने ऊपर हावी नहीं होने दिया। वैसाखियों के सहारे चलने के बावजूद शारीरिक शिक्षा कार्यक्रम और खेल कूद प्रतियोगिताओं में बच्चों का हमेशा जोशो खरोश बढाते हैं. इनके नेतृत्व में बच्चे खेल के क्षेत्र में दर्ज़नो पुरस्कार जीतते आये हैं.
मेला आयोजक सदस्य श्री नसीर अहमद सिद्दीकी ने बताया कि श्रीमती मंजू खत्री(उप निदेशक) के नेतृत्व में विद्यालय निरीक्षक श्रीमती कामना रावत,श्रीमती शक्ति डागर,श्री हरि राम मीणा, श्री हुकुम चन्द्र मीणा, श्री जय जॉन इनोसेंट, श्री रामफल मीणा  व् हृदय सिंह तोमर, श्री शब्बन खान(वरिष्ठम खेल शिक्षक) के दिन-रात मेहनत से मेले का आयोजन किया जा रहा है 

Comments 0

Comment Now


Videos Gallery

Poll of the day

शिवराज सरकार किसानों को बर्बाद क्यों कर रही है?

34 %
10 %
56 %
Total Hits : 77699